scorecardresearch
 

आतंकी संगठन IS की कैद से आजाद भारतीय लौटा स्वदेश, घर वालों को फोन पर दी जानकारी

आतंकी संगठन आईएस की कैद से आजाद हरजीत मसीह भारत लौट चुके हैं. हरजीत के परिवार ने बताया कि इराक में कुछ महीने रहने के बाद वो स्वदेश सही सलामत वापस आ गए हैं. हरजीत उन 40 भारतीयों में शामिल थे, जिनका आईएस ने पिछले साल जून में अपहरण कर लिया था.

X
Symbolic Image Symbolic Image

आतंकी संगठन आईएस की कैद से आजाद हरजीत मसीह भारत लौट चुके हैं. हरजीत के परिवार ने बताया कि इराक में कुछ महीने रहने के बाद वो स्वदेश सही सलामत वापस आ गए हैं. हरजीत उन 40 भारतीयों में शामिल थे, जिनका आईएस ने पिछले साल जून में अपहरण कर लिया था.

अंग्रजी अखबार 'द इंडियन एक्सप्रेस' की खबर के मुताबिक, हरजीत के बड़े भाई रोबिन मसीह ने कहा कि हरजीत इराक से हाल ही में भारत लौट आया है. हरजीत ने हमसे दिल्ली पहुंचकर फोन पर बात की लेकिन उसने अपनी सही लोकेशन हमें नहीं बताई. रोबिन ने कहा कि हरजीत ने जल्द ही घर लौटने के लिए कहा है. हरजीत का परिवार पंजाब के गुरदासपुर जिले के पास काला अफगाना गांव में रहता है.

हरजीत का इराक के मोसूल से पिछले साल 11 जून को अपहरण हो गया था. हालांकि आईएस की कैद में चार दिन रहने के बाद हरजीत कैद से बाहर निकलने में कामयाब हो गया था. लेकिन कैद से रिहा होने के बाह हरजीत की सही लोकेशन के बारे में सही से पता नहीं चल पाया है. नवंबर में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद में कहा था कि हरजीत सरकार की सुरक्षा में है.

हरजीत के भाई रोबिन ने बताया कि हम बीतें कई महीनों से उसे खोजने के लिए कोशिश कर रहे थे, लेकिन हरजीत के फोन करने तक हमें कोई जानकारी नहीं मिल पाई थी. रोबिन ने कहा कि हरजीत ने एक इंटरनेट नंबर से फोन किया था. हम उस नंबर की मदद से उसे ढूढ़ने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन इसमें अब तक हमें कोई सफलता नहीं मिली है.

याद रहे कि जिन 39 भारतीयों को आईएस की कैद में मारे जाने की आशंका जताई जा रही थी, उनमें हरजीत ही अकेले ऐसे शख्स थे, जिनके जिंदा होने और सारी सच्चाई जानने वाले सूत्र के तौर पर देखा जा रहा था. ऐसे में हरजीत के भारत लौटने पर यह उम्मीद जताई जा सकती है कि उनसे आईएस के कुछ राज पता चल सकें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें