scorecardresearch
 

पठानकोट: एयरबेस पर अब भी ऑपरेशन जारी, एयरफोर्स का आतंकियों की संख्या बताने से इनकार

पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन पर हुए हमले में सुरक्षा बलों ने 6 आतंकी ढेर कर दिए. अब तक 7 जवान शहीद हो चुके हैं.

पठानकोट एयरबेस के आसपास 14 किलोमीटर तक चलाया तलाशी अभियान पठानकोट एयरबेस के आसपास 14 किलोमीटर तक चलाया तलाशी अभियान

पंजाब के पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन पर रविवार दोपहर करीब सवा बारह बजे दोबारा फायरिंग होने लगी. इससे पहले निष्क्रिय करते वक्त एक बम फट गया था, जिसमें सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी शहीद हो गए. एयरबेस में दो आतंकियों के होने की खबर है. सुरक्षा बलों ने दोबारा ऑपरेशन शुरू किया और दोपहर को छठे आतंकी को भी ढेर कर दिया. गृह सचिव राजीव महर्ष‍ि ने बताया कि दो आतंकी अब भी एयरबेस में मौजूद हैं और ऑपरेशन जारी है. उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ऑपरेशन खत्म होगा.

पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन के एओसी जेएस धमून ने बताया कि एयरबेस पर ऑपरेशन अब भी जारी है. उन्होंने बताया कि ऑपरेशन रातभर जारी रहा था. हालांकि धमून ने यह बताने से इनकार कर दिया कि अंदर कितने आतंकी मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि ऑपरेशन खत्म होने के बाद ही तस्वीर साफ हो पाएगी.

इस बीच, एनआईए आईजी एसके सिंह के नेतृत्व में 12 सदस्यीय टीम भी जांच के लिए एयरबेस पहुंच गई. हमले में अब तक 11 शहीद हो चुके हैं. जबकि 16 घायल हैं. शहीदों में एनएसजी अफसर के अलावा डिफेंस सर्विस कोर के 6, एयरफोर्स और गरुड़ के दो-दो जवान शामिल हैं. इससे पहले भी एक और ग्रेनेड निष्क्रिय किए जाने के दौरान फट गया था, जिसमें एयरफोर्स का एक अधिकारी घायल हो गया. यह गोला-बारूद मारे गए आतंकियों से बरामद किया गया है. शहीद हुए अफसर की पहचान एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन ई कुमार के रूप में हुई है. 

17 घंटे चली मुठभेड़ में 4 आतंकी ढेर
आतंकियों से शनिवार तड़के शुरू हुई मुठभेड़ 17 घंटे चली. इसमें चार आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की जा चुकी है. एयरबेस और आसपास के 14 किलोमीटर के दायरे में सर्च ऑपरेशन जारी है.

जांबाज जवानों और सुरक्षाबलों को बधाई: PM
मैसूर में कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पठानकोट में चलाए गए सुरक्षा ऑपरेशन की सराहना की. उन्होंने कहा, 'हमारे सुरक्षाबलों में ऐसी कोशिशों का मुंहतोड़ जवाब देने की ताकत है. ऐसे मौके पर सबको एक साथ होना चाहिए. हमें अपने देश को अपने सैनिकों पर गर्व है. जांबाज जवानों और सैनिकों को बधाई.' गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी जवानों की जांबाजी को सलाम किया.

शहीदों को नमन
रक्षा मंत्री मनोहर परिर्कर ने 'आज तक' से कहा कि हमले के फौरन बाद सभी एजेंसियों ने त्वरित कार्रवाई की है. उन्होंने कहा, 'अभी ऑपरेशन जारी है. मैं हमले में शहीद हुए जवानों को नमन करता हूं.' पश्चि‍मी एयर कमांड के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल एसबी देव खुद पठानकोट में मौके पर पहुंच चुके हैं और सेना, एनएसजी और स्थानीय पुलिस के संपर्क में हैं.

आतंकियों ने पाकिस्तान किए थे फोन
खुफिया एजेंसियों को पठानकोट हमले के आतंकियों के फोन कॉल डिटेल मिले हैं. इसके मुताबिक रात डेढ़ से पौने दो बजे के बीच आतंकियों ने पाकिस्तान में चार फोन कॉल किए थे. खुफिया एजेंसियों ने ये फोन कॉल ट्रेस किए हैं.

आतंकी की मां ने कहा- मरने से पहले खाना खा लेना
आतंकियों के फोन कॉल डिटेल से पता चलता है कि तीन कॉल पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स को किए गए थे, जबकि एक आंतकी ने अपनी मां से बात की थी. आतंकी ने मां से कहा कि वह फिदायीन मिशन पर है, जिस पर उसकी मां ने कहा कि मरने से पहले खाना खा लेना.

30 दिसंबर को घुसे थे भारत में
सूत्रों के मुताबिक, आतंकी 30 दिसंबर को गुरदासपुर से लगी सीमा से भारत में घुसे थे. सभी जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी बताए जाते हैं. बताया जाता है कि आतंकियों को बहावलपुर में ट्रेनिंग मिली और इनके हैंडलर का नाम मोहम्मद अशफाक और हाजी अब्दुल है. सभी 6 आतंकियों को वायुसेना के विमान उड़ाने का टास्क दिया गया था. आशंका जताई जा रही है कि आतंकी दो ग्रुप में बंटकर हमले के लिए निकले हैं. लिहाजा, अलग-अलग इलाकों में भी सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है.

आधुनिक हथियारों से लैस थे आतंकी
खबरों के मुताबिक आतंकी एके-47, हैण्ड ग्रेनेड, जीपीएस सिस्टम समेत भारी गोला बारूद से लैश थे, लेकिन मुस्तैद सुरक्षा बलों ने उनके हमले को नाकाम कर दिया. आतंकवादी शनिवार तड़के 3 बजे लैंड क्रूजर और पजेरो गाड़ी से पठानकोट एयरबेस पहुंचे थे. आतंकियों की पाकिस्तान के बहावलपुर में 6 महीने तक ट्रेनिंग हुई और वे अल रहमान ट्रस्ट से जुड़े हैं.

मिलेगा मुंहतोड़ जवाब: राजनाथ
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पठानकोट हमले की निंदा करते हुए कहा कि पाकिस्तान समेत तमाम पड़ोसी देशों से भारत अच्छे रिश्ते चाहता है, लेकिन भारत पर आतंकी हमला हुआ तो इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. पठानकोट आतंकी हमले की जांच NIA को सौंप दी गई है. दिल्ली समेत देश के तमाम बड़े और संवेदनशील शहरों में हाई अलर्ट पर रखा गया है. गृह मंत्रालय, आर्मी से जुड़े ठिकाने और तमाम अहम जगहों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

कांग्रेस ने साधा PM के दौरे पर निशाना
आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया पाकिस्तान दौरे पर भी सवाल उठने लगे हैं. पठानकोट हमले के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मोदी-नवाज के पुतले फूंके. पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पाकिस्तान को आगाह किया कि वह दहशतगर्दों पर काबू पाए. भोपाल में भी यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे और प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया.

पाकिस्तान ने की हमले की निंदा
इस बीच, पाकिस्तान ने पठानकोट में हुए आतंकी हमले की निंदा की है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में भारत में हुए आतंकी हमले की निंदा की गई है.

आतंकी हमले की निंदा करते हुए कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि पाकिस्तान से उफा में बातचीत और पीएम के लाहौर दौरे के बाद भारत को यह सिला मिला है. सरकार को चाहिए कि वह अपनी कूटनीति और विदेश नीति पर फिर से विचार करे.

नए साल पर किया था अलर्ट
गौरतलब है कि नए साल के आगमन पर 1 जनवरी को ही एनएसए अजीत डोवाल ने वायुसेना, सेना और एनएसजी को आतंकी हमलों के बाबत अलर्ट किया था. आतंकियों के निशाने पर वायुसेना के बड़े अधिकारी भी थे. आतंकियों से मुठभेड़ में NSG के कमांडो, SWAT, पंजाब पुलिस और सुरक्षा बल के जवानों ने साझा ऑपरेशन चलाया है. इस दौरान हेलिकॉप्टर सर्विलांस की भी मदद ली गई है.

कार में मिला कागज का टुकड़ा
मुठभेड़ के बीच दोपहर में एयरबेस में दो जबरदस्त धमाके भी सुने गए. हालांकि धमाके को लेकर अभी तक कोई पुष्टि‍ नहीं हुई है कि ये किसने किए. सुरक्षा बलों ने 'जैश-ए-मोहम्मद' लिखा एक कागज का टुकड़ा आतंकियों की कार से बरामद किया है. गुरदासपुर से अगवा कार के ड्राइवर को आतंकवादियों ने सुबह में गोली मारी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें