scorecardresearch
 

ऑपरेशन ब्लूस्टार की बरसी पर स्वर्ण मंदिर में लगे 'खालिस्तान जिंदाबाद' के नारे

दरअसल, पंजाब के कई सिख गरमपंथी संगठनों की तरफ से ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी मनाने का ऐलान किया गया था. जिसके बाद पंजाब पुलिस ने एहतियातन के तौर पर सुरक्षा बढ़ाई थी.

फाइल फोटो - स्वर्ण मंदिर फाइल फोटो - स्वर्ण मंदिर

ऑपरेशन ब्लूस्टार की 33वीं बरसी के मौके पर अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे. इस दौरान कई सिख संगठन वहां पर मौजूद रहे, और नारेबाजी की.

बरसी मनाने का ऐलान
दरअसल, पंजाब के कई सिख गरमपंथी संगठनों की तरफ से ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी मनाने का ऐलान किया गया था. जिसके बाद पंजाब पुलिस ने एहतियातन के तौर पर सुरक्षा बढ़ाई थी.

गृह मंत्रालय की तरफ से अलर्ट
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी पंजाब पुलिस को सतर्क रहने के निर्देश दिए थे. दरअसल, पंजाब में पिछले कुछ दिनों के भीतर कार लूटपाट की 12 घटनाएं केंद्रीय जांच एजेंसियों के शक के दायरे में थी. एजेंसियों को आशंका है कि ब्लू स्टार ऑपरेशन की 33वीं बरसी के मौके पर इन कारों का इस्तेमाल कर फिदायीन आतंकी किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम दे सकते हैं. कार लूट की ये घटनाएं भारत-पाकिस्तान सीमा से सटे इलाकों में हुई हैं. जिसके चलते पंजाब पुलिस को अलर्ट जारी किया गया है.

बता दें कि 6 जून 1984 को ऑपरेशन ब्लू स्टार किया गया. भारतीय सेना का ये मिशन अमृतसर के स्वर्ण मंदिर को जरनैल सिंह भिंडरावाले और उनके समर्थकों के चंगुल से छुड़ाना था. इस ऑपरेशन को स्वतंत्र भारत में असैनिक संघर्ष के इतिहास की सबसे खूनी लड़ाई माना जाता है. इस ऑपरेशन में सैकड़ों की संख्या में लोग मारे गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें