scorecardresearch
 

कोरोना: पंजाब में लागू पाबंदियां 31 मई तक बढ़ाई गईं, CM अमरिंदर ने कहा- सख्ती से हो पालन

सीएम अमरिंदर ने कहा कि जिलाधिकारी एहतियात और जारी आदेशों के तहत ही दुकानों का खुलना तय करते रहेंगे. विशेष तौर पर ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराया जाएगा.

पंजाब में कोरोना के मद्देनजर लागू पाबंदियां 31 मई तक बढ़ा दी गई हैं. (फाइल फोटो) पंजाब में कोरोना के मद्देनजर लागू पाबंदियां 31 मई तक बढ़ा दी गई हैं. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब में लागू पाबंदियां 31 मई तक बढ़ाई गईं
  • कोरोना नियमों का सख्ती से पालन कराने का निर्देश
  • फंगल डिसऑर्डर पर भी सीएम अमरिंदर ने जताई चिंता

पंजाब में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले और महामारी के चलते हो रही मौतों को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में लागू पाबंदियों को 31 मई तक बढ़ाने का आदेश दिया है. सीएम अमरिंदर ने कहा है कि कोरोना के मद्देनजर लागू पाबंदियों का सख्ती से पालन किया जाए.

सीएम अमरिंदर ने कहा कि जिलाधिकारी एहतियात और जारी आदेशों के तहत ही दुकानों का खुलना तय करते रहेंगे. विशेष तौर पर ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि  स्थानीय स्तर पर जरूरत के हिसाब से जिलाधिकारी इस आदेश में संशोधन भी कर सकते हैं. हालांकि इस दौरान इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि इससे राज्य में जारी पाबंदियों पर असर ना हो. 

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों का जिला प्रशासन सख्ती से पालन करवाए. उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग नियम, मार्केट और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर भीड़भाड़ और जारी नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने जैसे नियमों का सख्ती से पालन कराया जाए.

कोरोना से बिगड़े हालात पर समीक्षा बैठक

सूबे में कोरोना से बिगड़े हालात पर समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने हाई लेवल मीटिंग के दौरान कहा कि सूबे में लागू पाबंदियों का परिणाम सामने आया है. उन्होंने कहा कि रोजाना के पॉजिटिव मामलों में कमी दर्ज की गई है. उन्होंने कहा कि लागू पाबंदियों के दौरान नए मामलों में कमी दर्ज की गई है. रोजाना के नए मामले 9 हजार से 6 हजार पर आ गए हैं. सीएम अमरिंदर ने कहा कि पॉजिटिविटी दर 13.1 प्रतिशत और सीएफआर 2.4 के मद्देनजर लागू सख्ती को बढ़ाया जा रहा है.

सीएम अमरिंदर ने जिला प्रशासन को मरीजों की शिकायत को लेकर भी निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि मरीजों की तरफ से निजी अस्पतालों की मनमानी की शिकायतें आ रही हैं. अस्पतालों को चेतावनी दी जाए कि अगर ऐसी शिकायतें आएंगी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई की जाए. सीएम अमरिंदर ने पुलिस को निर्देश दिए कि राज्य में कोरोना संबंधी चीजों की कालाबाजारी और जमाखोरी पर भी सख्ती की जाए और ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएं.

फंगल डिसऑर्डर पर जताई चिंता

सीएम अमरिंदर ने कोरोना संबंधित फंगल डिसऑर्डर को लेकर भी चिंता जाहिए की. उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों की जल्द से जल्द पहचान कर इलाज किया जाए. इसका इलाज अगर जल्दी नहीं होता है तो इससे गंभीर समस्याएं हो सकती हैं. उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य विभाग को सूबे में मौजूद दवाइयों के जरिए इस बीमारी का इलाज करने का निर्देश दिया.

सूबे में ऑक्सीजन की उपलब्धता पर उन्होंने कहा कि राज्य में इस संबंध में कोई अनहोनी नहीं हुई है. स्वास्थ्य विभाग हालात की निगरानी कर रहा है. राज्य सरकार ने सफलतापूर्वक पीएसए प्लांट, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, आदि का बंदोबस्त कर लिया है. इससे आगे ऑक्सीजन की कमी के मामले में मदद मिलेगी. उन्होंने राज्य सरकार को उचित एहतियात बरतने और तैयारी रखने के निर्देश दिए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें