scorecardresearch
 

सिख दंगा पीड़ितों का केस लड़ने के लिए फूल्का ने नेता विपक्ष पद से दिया इस्तीफा

पंजाब से आम आदमी पार्टी के विधायक और राज्य विधानसभा में नेता विपक्ष एचएस फूलका ने इस पद से इस्तीफा दे दिया है. मशहूर वकील और आप विधायक फूलका ने अपने इस कदम के पीछे वर्ष 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों की ओर से केस लड़ने को वजह बताया है.

एचएस फूलका एचएस फूलका

पंजाब से आम आदमी पार्टी के विधायक और राज्य विधानसभा में नेता विपक्ष एचएस फूलका ने इस पद से इस्तीफा दे दिया है. मशहूर वकील और आप विधायक फूलका ने अपने इस कदम के पीछे वर्ष 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों की ओर से केस लड़ने को वजह बताया है.

फूलका पिछले कई वर्षों से दिल्ली के सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों की ओर से केस लड़ते रहे हैं. ऐसे में पंजाब में विधायक चुने जाने और नेता विपक्ष का पद मिलने के बाद भी अगर वह बतौर वकील ये केस लड़ते तो ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का मामला बनता. वहीं फूलका पहले भी कई बार कह चुके थे कि अगर इन दंगा पीड़ितों का केस लड़ने में नेता विपक्ष का पद रुकावट बनता है, तो वह इस्तीफा दे देंगे.

दरअसल सिख विरोधी दंगों में सज्जन कुमार की भूमिका को लेकर अदालत में सुनवाई चल रही है और एचएस फूलका पीड़ितों की ओर से केस लड़ना चाहते हैं, जिसके लिए उन्होंने पंजाब विधानसभा में नेता विपक्ष पद से अपना इस्तीफा दे दिया. फिलहाल वह आम आदमी पार्टी के विधायक बने रहेंगे.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें