scorecardresearch
 
भारत

2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर

2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 1/9
महाराष्ट्र में बीजेपी के हाथ से सत्ता जाने और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने के बाद यह बात कई बार उठी कि देश में मोदी लहर की ताजा स्थिति क्या है. क्या अभी भी देश की जनता को मोदी-शाह की जोड़ी पर भरोसा है या ये भरोसा धीरे-धीरे टूट रहा है.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 2/9
2019 में अब तक 6 राज्यों में विधानसभा चुनाव हो चुके हैं जबकि 7वें राज्य (झारखंड) में चुनाव चल रहे हैं, यहां 23 दिसंबर को चुनाव परिणाम आने है. 2019 में आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम, हरियाणा और महाराष्ट्र में चुनाव हुए हैं. 11 अप्रैल को आंध्र प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को इस बार एक भी सीट पर जीत नहीं मिली, पिछले विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने वहां 4 सीटें जीती थीं.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 3/9
अप्रैल 2019 में कई चरणों में हुए ओडिशा विधानसभा चुनावों में बीजेपी को इस बार 23 सीटें मिलीं. बीजेपी यहां पिछले चुनावों में सिर्फ 10 सीट जीत पाई थी. यानी ओडिशा में बीजेपी को 10 सीटों का फायदा हुआ.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 4/9
11 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को 60 में से 41 सीटों पर जीत मिली. इससे पहले हुए चुनावों में बीजेपी के खाते में सिर्फ 11 सीटें ही आई थीं. इस तरह देखें तो अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी को कुल 30 सीटों का फायदा हुआ.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 5/9
11 अप्रैल को सिक्किम में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली. लेकिन परिणाम के कुछ महीनों बाद कुछ ऐसी घटना घटी कि बीजेपी राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी बन गई. दरअसल सिक्किम में 25 सालों तक शासन करने वाली सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के 10 विधायक रातोरात पाला बदलकर बीजेपी में शामिल हो गए थे.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 6/9
21 अक्टूबर को हरियाणा में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को 90 में सिर्फ 40 सीटों पर जीत हासिल हुई. पिछले चुनावों में बीजेपी के पास 47 सीटें आई थीं. हरियाणा में सरकार बनाने के लिए 46 विधायक चाहिए इस वजह से बीजेपी को जननायक जनता पार्टी से गठबंधन करना पड़ा.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 7/9
21 अक्टूबर को महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी को 105 सीटों पर जीत मिली. इससे पहले के चुनाव में बीजेपी को कुल 122 सीटों पर जीत मिली थी. यानी चुनावों में बीजेपी को कुल 17 सीटों का नुकसान हुआ. राज्य में बीजेपी को सत्ता भी गंवानी पड़ी क्योंकि शिवसेना ने चुनावों बाद एनसीपी और कांग्रेस से गठबंधन कर लिया.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 8/9
गौर करने वाली बात है कि मुश्किल से 7 महीने पहले बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए भारी जीत हासिल की थी. बीजेपी ने लोकसभा की 543 सीटों में से 303 सीटें हासिल की थीं जो कि कुल सीटों का करीब 56 फीसदी है. जब इन आंकड़ों को विधानसभा क्षेत्रों से मिलाया गया तो पता चला कि लोकसभा चुनावों में कुल 4120 विधानसभा सीटों में से 2089 पर बीजेपी पहले नंबर पर थी. यानी लोकसभा चुनाव 2019 में मोदी के नेतृत्व में बीजेपी 51 प्रतिशत विधानसभा सीटों पर जीती.
2019 में BJP केन्द्र में हुई मजबूत लेकिन राज्यों में हुई कमजोर
  • 9/9
इंडिया टुडे के डाटा इं​टेलीजेंस यूनिट (DIU) ने लोकसभा चुनाव परिणाम का विधानसभाओं के आधार पर विश्लेषण किया और इसकी तुलना विधानसभाओं में (28 नवंबर 2019 तक के) मौजूदा प्रतिनिधित्व से की. हमने पाया कि बीजेपी केंद्र में तो ताकतवर है, लेकिन राज्य विधानसभाओं में कमजोर पड़ रही है. राज्यों में स्थानीय पार्टियों की पकड़ मजबूत है. हालांकि, जब हमने 2014 से नवंबर 2019 तक विधानसभा चुनावों के आंकड़ों का अध्ययन किया तो सामने आया कि फिलहाल बीजेपी कुल 32 फीसदी विधानसभाओं में सत्ता में है.