scorecardresearch
 

रिकॉर्ड बनने के बाद कैसी सुस्त पड़ी Vaccination की रफ्तार, देखें ग्राउंड रिपोर्ट

रिकॉर्ड बनने के बाद कैसी सुस्त पड़ी Vaccination की रफ्तार, देखें ग्राउंड रिपोर्ट

भारत का मिशन वैक्सीनेशन दुनिया में सबसे तेज होकर भी अपने लक्ष्य से दूर है. भारत में अब तक 38 करोड़ 15 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज लग चुकी है. इनमें स्वास्थ्यकर्मी 1 करोड़ 76 लाख, फ्रंटलाइन वर्कर 2 करोड़ 77 लाख, 45 प्लस उम्र के 21 करोड़ 80 लाख और 18 से 44 साल के 11 करोड़ 82 लाख लोग हैं. 21 जून को भारत ने अपना मेगा वैक्सीन अभियान शुरू किया है. पहले 22 दिनों में 16.5 करोड़ डोज लगायी गई हैं लेकिन सच मायने में मेगा वैक्सीनेशन अभियान के सिर्फ पहले हफ्ते में ही वैक्सीनेशन अपनी फुल स्पीड से हुआ. बीते 2 हफ्तों से वैक्सीनेशन फिर सुस्त हो रहा है. 29 जून से 5 जुलाई के बीच औसतन हर रोज साढ़े 42 लाख डोज लगायी गई. जबकि 6 जुलाई से 12 जुलाई के बीच औसतन 34 लाख 70 हजार डोज रोजाना लगी. अब अगर 34 लाख 70 हजार डोज रोजाना की रफ्तार को पैमाना मान लें, तो भारत में वैक्सीनेशन का लक्ष्य सितंबर 2022 से पहले पूरा नहीं हो सकता. देखिए ये रिपोर्ट.

India's vaccination drive being the fastest in the world is still far from its target. So far 38 crores 15 lakh people have been vaccinated in India. Since June 21, when India started its mega vaccine campaign, 165 million doses have been administered in the first 22 days. But in reality, the vaccination was done at its full speed only in the first week of the mega vaccination campaign. Now vaccination is slowing down again for the last 2 weeks. Watch this report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें