scorecardresearch
 

सिविल सर्विसेज: सिलेक्शन के मामले में लड़कों से आगे लड़कियां, 26 से कम उम्र में सक्सेस रेट सबसे ज्यादा

संघ लोक सेवा आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक, 24-26 साल के आयुवर्ग में 31.3% पुरुषों और 35.8% महिलाओं ने एग्जाम पास किया. वहीं, 2015-16 से लेकर 2019-20 की सभी रिपोर्ट्स का आकलन किया जाए तो शीर्ष पदों पर 24 से 26 साल की आयुवर्ग में महिला अफसर पुरुषों से अधिक चुनी गई हैं. पिछले 4 साल में सर्वाधिक कैंडिडेट तीसरे प्रयास में सफल हुए हैं.

फाइल फोटो फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • संघ लोक सेवा आयोग ने पिछले 4 साल के आंकड़े जारी किए
  • 24 से 26 साल के अभ्यथियों का हुआ सबसे ज्यादा चयन

संघ लोक सेवा आयोग ने पिछले 4 साल के आंकड़े जारी किए हैं. इसमें कई रोचक तथ्य सामने निकलकर आए हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक, सिविल सर्विसेज को पास करने वाले अधिकतर अभ्यर्थियों की उम्र 24-26 साल होती है. सबसे खास बात ये है कि पिछले 4 साल में चयनित होने वालों में महिलाओं की संख्या पुरुषों से ज्यादा है. 

संघ लोक सेवा आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक, 24-26 साल के आयुवर्ग में 31.3% पुरुषों और 35.8% महिलाओं ने एग्जाम पास किया. वहीं, 2015-16 से लेकर 2019-20 की सभी रिपोर्ट्स का आकलन किया जाए तो शीर्ष पदों पर 24 से 26 साल की आयुवर्ग में महिला अफसर पुरुषों से अधिक चुनी गई हैं.  पिछले 4 साल में सर्वाधिक कैंडिडेट तीसरे प्रयास में सफल हुए हैं. 

24.02% अभ्यर्थी तीसरे प्रयास में हुए सफल

आंकड़ों के मुताबिक, कुल 24.02% अभ्यर्थियों ने तीसरे प्रयास में परीक्षा पास की. इनमें से 22.94% पुरुष और 27.46% महिलाएं थीं. जबकि 6वें प्रयास में सिर्फ 8.37% कैंडिडेट से एग्जाम पास किया. इनमें से 8.40% पुरुष और 8.29% महिलाएं थीं. 

21 से 26 साल के आयुवर्ग में महिलाओं का ज्यादा चयन

इस रिपोर्ट के मुताबिक, 21 से 26 साल के आयु वर्ग में भी महिलाओं का सक्सेस रेट पुरुषों के मुकाबले ज्यादा है. रिसर्चर एंड एजुकेशनिस्ट रोहित पारिख मानते हैं कि इस मामले में रिसर्च से यह बात सामने आई है कि 24 से 26 साल की उम्र के छात्र अपने भविष्य के बारे में ज्यादा सोचते हैं. यही वजह है कि करियर को लेकर उनका फोकस ज्यादा होता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें