scorecardresearch
 

धर्मसंसद में हेट स्पीच! सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, कपिल सिब्बल ने उठाया था मुद्दा

हरिद्वार में पिछले महीने धर्म संसद का आयोजन किया गया था. आरोप है कि इस दौरान धर्मविशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की गईं. इसे लेकर पूरे देश में काफी विवाद भी मचा हुआ है. उधर, हरिद्वार पुलिस ने इस मामले में वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी और अन्य के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था.

X
हरिद्वार में 17-19 दिसंबर तक धर्म संसद का आयोजन किया गया था. हरिद्वार में 17-19 दिसंबर तक धर्म संसद का आयोजन किया गया था.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हरिद्वार में 17-19 दिसंबर को हुआ था धर्म संसद का आयोजन
  • आरोप है कि इस दौरान धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी की गई

हरिद्वार में धर्मसंसद में हेट स्पीट के मामले में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार हो गया है. इस मुद्दे को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट के सामने उठाया था. सिब्बल ने कोर्ट में कहा, यह मुद्दा काफी खतरनाक है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा, सीजेआई एनवी रमन्ना ने कहा, हम इस पर सुनवाई करेंगे. 

दरअसल, हरिद्वार के खड़खडी स्थित वेद निकेतन में 17 से 19 दिसंबर तक धर्मसंसद आयोजित हुई थी. इसमें संतों की ओर से हेट स्पीच दी गई। धर्मसंसद की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी. इसे लेकर पूरे देश में काफी विवाद भी मचा हुआ है. उधर, हरिद्वार पुलिस ने इस मामले में  वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी और अन्य के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था. 

मामले में नहीं हुई कार्रवाई- कपिल सिब्बल 

कपिल सिब्बल ने कोर्ट में कहा, इस मामले में एफआईआर दर्ज हुई है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. अभी तक किसी की गिरफ्तारी भी नहीं हुई. यह मामला काफी खतरनाक है. हम सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में सुनवाई के लिए अपील करेंगे. सीजेआई ने कहा, हम इस मामले को सुनेंगे. 

एसआईटी का हुआ गठन
उधर, उत्तराखंड के गढ़वाल के डीआईजी केएस नागन्याल ने का कहना है कि हरिद्वार में हाल ही में हुई धर्म संसद की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया गया था. इस धर्म संसद में कुछ प्रतिभागियों द्वारा कथित तौर पर अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया था. मामले की जांच के लिए पांच सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन किया गया है. 
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें