scorecardresearch
 

गोवाः ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से गई 26 मरीजों की जान, स्वास्थ्य मंत्री बोले- मामले की हो जांच

गोवा में आज तड़के 2 बजे से 6 बजे के बीच कम से 26 मरीजों की जान महज इसलिए चली गई क्योंकि ऑक्सीजन की सप्लाई में बाधा आ गई. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा कि इस पूरी घटना की जांच होनी चाहिए.

गोवा में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से कई मरीजों की मौत (सांकेतिक-पीटीआई) गोवा में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से कई मरीजों की मौत (सांकेतिक-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • GMC में सुबह 2 से 6 बजे के बीच 26 मरीजों की जान गई
  • पूरी घटना की जांच होनी चाहिएः राज्य स्वास्थ्य मंत्री
  • डॉक्टरों की लापरवाही या देरी वजह नहींः मुख्यमंत्री

कोरोना संकट के बीच ऑक्सीजन कई मरीजों के लिए बेहद अहम साबित हुई है और सप्लाई बाधित होने से कई मरीजों की जान तक चली गई. दिल्ली और उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि कई अन्य जगहों राज्यों में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से मरीजों की जान जा रही है. गोवा में आज मंगलवार को ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने से 4 घंटे में 26 मरीजों की जान चली गई.

गोवा में आज तड़के 2 बजे से 6 बजे के बीच कम से 26 मरीजों की जान महज इसलिए चली गई क्योंकि ऑक्सीजन की सप्लाई में बाधा आ गई. मंगलवार की सुबह महज 4 घंटों के दौरान 26 मरीजों की मौत हो गई. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने कहा कि इस पूरी घटना की जांच होनी चाहिए, हाईकोर्ट भी इस संबंध में पूछताछ कर सकता है.

गोवा में करीब 50 मौतें हो चुकी हैं. गोवा मेडिकल कॉलेज (GMC) अस्पताल में सबसे ज्यादा 20 से 30 के आसपास मौतें हुई हैं. आज वहां 26 मौतें हुईं. स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने के कारण ऐसा हो सकता है.

इसे भी पढ़ें --- कोरोना पर सरकार की नई गाइडलाइन, एक राज्य से दूसरे राज्य जाने में अब RTPCR टेस्ट जरूरी नहीं

घटना पर गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि अभी ऐसा प्रतीत नहीं होता कि यह घटना अगर डॉक्टरों की लापरवाही या देरी की वजह से हुई है.

जिला प्रशासन ने कल रात 2 बजे से सुबह 6 बजे के बीच गोवा मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी की सूचना दी थी और तत्काल मुहैया कराने के लिए एसओएस के जरिए सूचना दी थी.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें