scorecardresearch
 

पुणे: कोरोना से दो नौजवान भाइयों की मौत, संक्रमित पिता का चल रहा है इलाज

महाराष्ट्र के पुणे में कोविड-19 और निमोनिया से पीड़ित दो युवा भाइयों ने 22 घंटे के भीतर दम तोड़ दिया. इनके पिता भी कोरोना से संक्रमित होने की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं, उन्हें दोनों बेटों की मौत के बारे में अभी नहीं बताया गया है. 

बड़ा भाई आदित्य विजय जाधव और अपूर्व विजय जाधव बड़ा भाई आदित्य विजय जाधव और अपूर्व विजय जाधव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दोनों भाइयों की एक ही दिन के अंदर मौत
  • कोरोना से फेफड़ों में हुआ था भारी संक्रमण
  • पिता भी हैं कोरोना संक्रमित, उन्हें बताया नहीं गया

कोरोना की दूसरी लहर ने देश में कई परिवारों पर कहर बरपाया है. ऐसे अनेक परिवार हैं जहां सभी सदस्य कोविड-19 से संक्रमित हुए और इन परिवारों ने एक से ज्यादा अपनों को हमेशा के लिए खो दिया. मेरठ के जुड़वा भाइयों की एक दिन के गैप पर हुई मौत की खबर अभी सुर्खियों से हटी भी नहीं कि ऐसी ही दुखद रिपोर्ट अब महाराष्ट्र के पुणे से आई है.

पुणे में कोविड-19 और निमोनिया से पीड़ित दो युवा भाइयों ने 22 घंटे के बीच दम तोड़ दिया. इनके पिता भी कोरोना से संक्रमित होने की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं, उन्हें दोनों बेटों की मौत के बारे में अभी नहीं बताया गया है. 

महाराष्ट्र के पुणे से सटे आर्कुडी में रहने वाले इस परिवार पर जो बीता है, उसे जानकर आसपास के सभी लोग शोक में हैं. बड़े भाई आदित्य विजय जाधव की उम्र 28 साल थी और वो एक बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कंपनी में काम करता था. छोटा भाई अपूर्व विजय जाधव 25 साल का था.  

कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार कराना पति का मिशन, साथ देने को पत्नी ने छोड़ी नौकरी

अपूर्व पुणे नगर निगम में कॉन्ट्रेक्टर के साथ कार्यरत था. अपूर्व की ड्यूटी पुणे नगर निगम (PMC)  के अतिक्रमण विरोधी दस्ते में थी. बड़े भाई आदित्य की शादी को एक साल से ज्यादा हो चुका है, वहीं अपूर्व अभी अविवाहित था.

आदित्य विजय जाधव का विवाह एक साल पहले ही हुआ था
आदित्य विजय जाधव का विवाह एक साल पहले ही हुआ था

सबसे पहले छोटे भाई अपूर्व को 1 मई को कोविड-19 पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई. अपूर्व को अस्पताल में भर्ती कराया गया. फिर बड़े भाई आदित्य में भी ऐसे ही लक्षण दिखने लगे. आदित्य के साथ परिवार के बाकी सदस्यों में माता-पिता और आदित्य की पत्नी का भी कोरोना टेस्ट हुआ. परिवार के सभी सदस्यों का कोविड-19 पॉजिटिव आने के बाद इलाज चला. मां और आदित्य की पत्नी का टेस्ट जल्दी ही निगेटिव आ गया. लेकिन आदित्य, अपूर्व और उनके पिता विजय जाधव का अस्पताल में इलाज चलता रहा. 65 साल के विजय जाधव रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी हैं.    

शुक्रवार सुबह 21 मई को छोटे भाई अपूर्व की तबीयत अधिक खराब हो गई. डॉक्टरों की तमाम कोशिश के बाद भी अपूर्व को बचाया नहीं जा सका. शनिवार को बड़े भाई आदित्य ने भी दम तोड़ दिया. दोनों के फेफड़ों में संक्रमण बहुत अधिक फैल चुका था. दोनों को वेंटिलेटर सपोर्ट देना भी काम नहीं आया. 

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मेरठ में कोरोना से दो जुड़वा भाइयों की 13 और 14 मई को मौत हुई थी. मेरठ कैंट में रहने वाले टीचर ग्रेगरी रेमंड राफेल के दोनों बेटे- जोफ्रेड वर्गीज ग्रेगरी और राल्फ्रेड जॉर्ज ग्रेगरी, बीटेक थे. 23 अप्रैल को दोनों ने अपना 24वां जन्मदिन मनाया था लेकिन अगले दिन ही वो कोरोना का शिकार हो गए.

फेफड़ों में संक्रमण अधिक फैल जाने की वजह से दोनों भाइयों को बचाया नहीं जा सका. जोफ्रेड और राल्फ्रेड की उम्र में सिर्फ तीन मिनट का फर्क था, वहीं पुणे के आदित्य और अपूर्व के बीच उम्र में तीन साल का फासला था. जोफ्रेड और राल्फ्रेड की तरह आदित्य और अपूर्व ने भी करीब एक दिन के अंतराल पर दुनिया को अलविदा कहा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें