scorecardresearch
 

मराठा आरक्षण: चाचा शरद पवार के घर के बाहर अजित पवार ने की जमकर नारेबाजी

मराठा आरक्षण को लेकर महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने अपने चाचा शरद पवार के घर के बाहर नारेबाजी की. हालांकि इस दौरान शरद पवार घर पर मौजूद नहीं थे, जिसके कारण उनकी मुलाकात नहीं हो पाई.

महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार

महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने गुरुवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और अपने चाचा शरद पवार के घर के बाहर मराठा आरक्षण को लेकर नारे लगाए. पुणे से 110 किमी दूर शरद पवार के बारामाती निवास के बाहर मराठा आरक्षण को लेकर आंदोलनकारी प्रदर्शन कर रहे थे. इसी दौरान अजित पवार अपने चाचा के घर के बाहर पहुंचते हैं और आंदोलनकारियों के साथ जमकर नारेबाजी करते हैं.

हालांकि शरद पवार इस दौरान घर पर मौजूद नहीं थे. बताया जा रहा है कि वे तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि को श्रद्धांजलि देने के लिए चेन्नई में थे. शरद पवार की बेटी और बारामती से सांसद सुप्रिया सुले भी घर पर मौजूद नहीं थीं. 

एनसीपी प्रमुख के घर के बाहर प्रदर्शन

गुरुवार को मराठा आरक्षण के लिए बुलाए गए महाराष्ट्र बंद के दौरान आंदोलनकारियों ने शरद पवार के घर के बाहर प्रदर्शन किया. आंदोलनकारियों का प्रदर्शन करीब 3 घंटे तक चला. बारामती से विधायक अजित पवार भी सुबह करीब 10.30 बजे शरद पवार के घर के बाहर पहुंचते हैं और प्रदर्शन में शामिल होते हैं.

चाचा शरद पवार से राजनीति के दांवपेच सीखने वाले अजित पवार ने 'आरक्षण हमारे हक का, नहीं किसी के बाप का, ऐसे कैसे नहीं देंगे, आरक्षण तो लेके रहेंगे- एक मराठा लाख मराठा' के नारे लगाए.

आपको बता दें कि मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने फैसला लिया है कि सत्ताधारी और विपक्ष के सभी विधायक और सांसदों के निवास स्थान के बाहर जाकर वे प्रदर्शन करेंगे और नारेबाजी करेंगे. जिससे कि विधानसभा और संसद में मराठा आरक्षण के लिए दबाव बनाए रखें. बता दें कि सरकारी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण की मांग को लेकर कई संगठनों ने गुरुवार को महाराष्ट्र बंद बुलाया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें