scorecardresearch
 

नासिक: शादी का कार्ड देख 'लव-जिहाद' पर हुआ बवाल, रद्द करना पड़ा प्रोग्राम

नासिक में एक परिवार को अपनी बेटी की शादी तब रद्द करनी पड़ी, जब कार्ड वायरल होने पर लोगों ने समझा कि ये एक लव जिहाद का मामला है. जानें पूरी कहानी क्या है...

हिन्दू रीति रिवाज़ से शादी करवा रहा था परिवार (सांकेतिक तस्वीर) हिन्दू रीति रिवाज़ से शादी करवा रहा था परिवार (सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नासिक में शादी को लेकर हुआ बवाल
  • लव-जिहाद का मामला समझ लोगों ने किया विरोध
  • आपसी सहमति से शादी करवा रहा था परिवार

महाराष्ट्र (Maharashtra) के नासिक में एक परिवार अपनी बेटी की शादी मुस्लिम युवक से करवा रहा था. लेकिन जब शादी का कार्ड छपा और धीरे-धीरे वायरल हुआ, तो लोगों का ऐसा दबाव बना कि शादी कार्यक्रम को ही रद्द करना पड़ा. कार्ड वायरल होने के बाद लोगों की ओर से इस शादी को लव-जिहाद (Love Jihad) का एंगल दे दिया गया, ऐसे में परिवारवालों को समारोह को रद्द करना पड़ा. 

दरअसल, नासिक में 28 साल की एक दिव्यांग लड़की की शादी उसके साथ ही पढ़ने वाले मुस्लिम युवक से होने जा रही थी. दोनों के परिवार आपस में रजामंद थे और शादी की तैयारियों में जुटे थे. शादी के लिए कार्ड भी छापे गए, लेकिन जब ये कार्ड छपे और धीरे-धीरे बात बाहर आई तब बवाल हो गया. दोनों की शादी 18 तारीख को होनी थी.  

मई में शादी रजिस्टर करवा चुके थे 

जानकारी के मुताबिक, मई महीने में दोनों ने अपनी शादी (Marriage) को कोर्ट में भी रजिस्टर करा दिया गया था. अब दोनों परिवार हिंदू रीति रिवाज से समारोह करना चाहते थे. लेकिन कार्ड सामने आने के बाद कई हिन्दू संगठनों ने इसे 'लव-जिहाद' का मामला बता दिया. जिसके बाद विवाद शुरू हुआ.  


बेटी के साथ ही रहा पूरा परिवार

हालांकि, तमाम विवाद के बाद भी परिवार अपनी बेटी की पसंद के साथ खड़ा हुआ है. उन्होंने साफ किया कि यह जबरन धर्म परिवर्तन का मामला नहीं है. लड़की के पिता प्रसाद आडगावकर ने कहा कि दिव्यांग होने की वजह से उनकी बेटी के लिए अच्छा जीवनसाथी नहीं मिल पा रहा था. मेरे समुदाय में भी यह बात पता थी, उनकी बेटी ने अपने ही एक दोस्त के साथ शादी की इच्छा परिवार के सामने रखी. 

उस दोस्त का परिवार भी शादी के लिए तैयार था, दोनों परिवार शादी के लिए तैयार हो गए. मई में ही नासिक के एक कोर्ट में दोनों की शादी को रजिस्टर करा दिया गया था. परिवार अपनी बेटी को विदा करने से पहले हिंदू तरीके से समारोह करना चाहते था. 

जिसके लिए होटल की बुकिंग भी करा दी गई थी. लेकिन बेटी की शादी के कार्ड व्हाट्सएप ग्रुप पर लीक हो गया. जिसके बाद अनजान लोगों ने भी इस पर विरोध जताते हुए उन्हें कॉल करना शुरू कर दिया. कई हिन्दू संगठनों द्वारा इस शादी का विरोध किया जाने लगा. तमाम अड़चनों के बाद परिवार ने इस समारोह को रद्द करने का फैसला किया. 

(इनपुट:  प्रवीन ठाकरे) 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×