scorecardresearch
 

Omicron को लेकर मुंबई का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा सतर्क, बढ़ाए गए नियम और सुविधाएं

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर राज्य सरकारें भी सतर्क हो गई हैं. इसी के तहत महाराष्ट्र में मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (CSMIA) के अधिकारियों ने अपनी मौजूदा सुविधाओं में और भी सुविधाएं जोड़ी हैं. आधिकारिक बयान में छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (CSMIA) ने कहा है कि उन्होंने 100 रैपिड पीसीआर सहित 100 रजिस्ट्रेशन काउंटर और 60 सैंपलिंग बूथ स्थापित किए हैं.

X
Mumbai Airport Mumbai Airport
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओमिक्रॉन को लेकर महाराष्ट्र सरकार सख्त
  • मुंबई एयरपोर्ट पर बढ़ाए गए नियम

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर राज्य सरकारें भी सतर्क हो गई हैं. इसी के तहत महाराष्ट्र में मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (CSMIA) के अधिकारियों ने अपनी मौजूदा सुविधाओं में और भी सुविधाएं जोड़ी हैं. एक आधिकारिक बयान में छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (CSMIA) ने कहा है कि उन्होंने 100 रैपिड पीसीआर सहित 100 रजिस्ट्रेशन काउंटर और 60 सैंपलिंग बूथ स्थापित किए हैं.

घटाए गए कोरोना टेस्टिंग के दाम

मुंबई एयरपोर्ट ने भी रैपिड पीसीआर टेस्ट की दरों को संशोधित कर  4,500 रुपये की जगह 3,900 कर दिया है. इसके साथ ही 600 रुपये की सामान्य आरटी-पीसीआर जांच भी सीएसएमआईए में उपलब्ध है. अधिकारी ने कहा कि लोग टेस्टिंग के घटे हुए शुल्क का लाभ उठा सकेंगे.

मुंबई हवाई अड्डे पर दिशा-निर्देश

यूनाइटेड किंगडम, दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, ब्राजील, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, हांगकांग और इजराइल सहित यूरोप के कुछ जोखिम वाले देशों से आने वाले यात्रियों को प्राथमिकता पर उतारा जा रहा है. दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना और जिम्बाब्वे से आने वाले यात्री या महाराष्ट्र आने से पहले पिछले 15 दिनों में इन 3 देशों में से किसी का भी दौरा करने वाले यात्रियों को सीएसएमआईए में आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने के बाद सात दिनों के लिए क्वारंटीन होना पड़ेगा.

अधिकारी ने बताया कि ऐसे यात्रियों का 7वें दिन दूसरा आरटी-पीसीआर टेस्ट भी कराया जाएगा. यदि आरटी-पीसीआर टेस्ट में कोई संक्रमित पाया जाता है तो उसे कोविड सुविधाओं वाले अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया जाएगा. यदि सातवें दिन का टेस्ट निगेटिव आता है तो यात्री को और 7 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन से गुजरना होगा.

मुंबई नगर निगम ने भी कसी कमर

इधर, मुंबई नगर निगम ने कोरोना के नए वैरिएंट के फैलाव को रोकने के लिए एक प्लान तैयार किया है. नागरिक निकाय ने विदेशी यात्रियों के होम क्वारनटीन के लिए दिशा-निर्देश जारी किया है. वार्ड वॉर रूम (WWR) को उन यात्रियों को दिन में पांच बार फोन करके उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछकर होम क्वारनटीन में उन पर नजर रखने का काम सौंपा गया है, जो यात्री कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से प्रभावित देशों से आए हैं.

बीएमसी को हर दिन देनी होगी यात्रियों की सूची

ओमिक्रोन से प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों पर कड़ी नजर रखने के लिए एयरपोर्ट के सीईओ को हाई रिस्क देशों से आने वाले यात्रियों की डीटेल के साथ हर दिन सुबह 9 बजे बीएमसी के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ को एक सूची देने के लिए कहा गया है. यह सूची बीएमसी वार्ड वॉर रूम को देगा. इसके बाद वॉर रूम यात्रियों से प्रतिदिन स्वास्थ्य अपडेट लेंगे, बीमार होने पर डॉक्टर को चेकअप के लिए भेजा जाएगा. यह सुनिश्चित करना होगा कि 7वें दिन यात्री का आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाए.

बीएमसी संबंधित हाउसिंग सोसाइटी को यात्री के बारे में सूचित करेगी और फोन पर यात्री को परामर्श भी देगी. होम क्वारनटीन नियमों का कोई भी उल्लंघन न हो, नहीं तो एक्सोडर्म एक्ट के तहत कार्रवाई कर ऐसे यात्रियों को अनिवार्य होम क्वारनटीन में भेज दिया जाएगा. नगर आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने कहा कि एमसीजीएम ने ओमिक्रॉन से प्रभावित देशों से मुंबई पहुंचने वाले यात्रियों के लिए अनूठा और सख्त घरेलू निगरानी तंत्र बनाया है. यह इंस्टीट्यूश्नल क्वारनटीन के रूप में प्रभावी होगा. हमारा उद्देश्य मुंबई में ओमिक्रॉन संक्रमण के संभावित प्रसार को रोकना है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें