scorecardresearch
 

BJP नेता का आरोप- जहां लगे फ्री कश्मीर के नारे, वहां मौजूद थे उद्धव के मंत्री

किरीट सोमैया ने आरोप लगाया कि मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर जब फ्री कश्मीर के बैनर लगाए गए थे, तब वहां उद्धव सरकार के मंत्री जितेंद्र अव्हाड मौजूद थे.

किरीट सोमैया की फाइल फोटो (ANI) किरीट सोमैया की फाइल फोटो (ANI)

  • जेएनयू हिंसा को लेकर पूरे देश में विरोध प्रदर्शन
  • गेटवे ऑफ इंडिया पर दिखा 'फ्री कश्मीर' पोस्टर

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता किरीट सोमैया ने शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. किरीट सोमैया ने मंगलवार को कहा कि मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर जब फ्री कश्मीर के बैनर लगाए गए थे, तब उद्धव सरकार के मंत्री जितेंद्र अव्हाड वहां मौजूद थे.

किरीट सोमैया ने कहा कि जेएनयू हिंसा के खिलाफ गेटवे ऑफ इंडिया के प्रदर्शन को महाराष्ट्र सरकार का समर्थन था. उन्होंने मुंबई पुलिस से शिकायत भी की है. फिलहाल, मुंबई पुलिस फ्री कश्मीर बैनर मामले की जांच कर रही है. बता दें, जितेंद्र अव्हाड उद्धव सरकार में एनसीपी कोटे से मंत्री हैं.

जेएनयू में रविवार को नकाबपोशों द्वारा छात्रों पर हमला करने की घटना की निंदा करने के लिए सोमवार को अलग-अलग संगठनों से जुड़े सैकड़ों छात्रों, एनजीओ और प्रमुख हस्तियों ने यहां गेटवे ऑफ इंडिया पर विरोध प्रदर्शन किया. जेएनयू छात्रों और प्रोफेसरों के साथ एकजुटता जताते हुए छात्र भारतीय तिरंगा, बैनर और पोस्टर अपने साथ लिए हुए थे. इस दौरान उन्होंने नकाबपोश हमलावरों द्वारा की गई हिंसा की कड़ी निंदा की.

इस विरोध प्रदर्शन में शामिल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के वरिष्ठ नेता और आवास मंत्री जितेंद्र अव्हाड ने केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी नीत एनडीए सरकार को घेरते हुए कहा कि भारत में लोकतंत्र को नष्ट करने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा, जेएनयू हिंसा अमित शाह प्रायोजित आतंकवाद है. देश इस बर्बर कृत्य की निंदा करता है. यह देखकर अच्छा लगा कि मोदी और शाह केवल एक ही चीज से डरते हैं, वह है जेएनयू के मेधावी छात्र."

बता दें, जेएनयू में रविवार को हुए बवाल पर पूरे देश में प्रदर्शन हो रहे हैं, लेकिन सोमवार शाम मुंबई के गेट ऑफ इंडिया में लहराए गए एक पोस्टर ने विवाद खड़ा कर दिया. पोस्टर पर फ्री कश्मीर का नारा लिखा गया था. मुंबई की सड़कों पर न केवल कश्मीर का मुद्दा उठा बल्कि अर्बन नक्सल का मामला भी सामने आया. कई पोस्टरों में एबीवीपी को निशाना बनाया गया, तो संघ के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी हुई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें