scorecardresearch
 

अमित शाह ने माना, कमजोर पड़ी मोदी लहर!

हाल ही में हुए विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी के खराब प्रदर्शन पर विरोधियों का कहना था कि देशभर में मोदी लहर कमजोर पड़ गई है. पहले तो बीजेपी ने इसे सियासी बयान बताकर झुठला दिया पर अब पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने माना है कि मोदी लहर धीरे-धीरे कमजोर पड़ रही है.

अमित शाह अमित शाह

हाल ही में हुए विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी के खराब प्रदर्शन पर विरोधियों का कहना था कि देशभर में मोदी लहर कमजोर पड़ गई है. पहले तो बीजेपी ने इसे सियासी बयान बताकर झुठला दिया पर अब पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने माना है कि मोदी लहर धीरे-धीरे कमजोर पड़ रही है.

मुंबई दौरे पर गए अमित शाह ने पार्टी की महाराष्ट्र इकाई को निर्देश दिया कि वह पार्टी का चुनावी कैंपेन पूरी तरह से नरेंद्र मोदी के करिश्मे पर आधारित नहीं रखें. बल्कि सत्तारूढ़ कांग्रेस-एनसीपी की 15 सालों से कुशासन को जनता के सामने बेनकाब करें.

बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में शाह ने इशारे में कहा कि जिस मोदी लहर के दम पार्टी ने राज्य की 48 लोकसभा सीटों में 23 पर जीत हासिल की, वह अब कमजोर हो रही है. क्योंकि जनता की सोच समय-समय पर बदलती रहती है.

उन्होंने कोर कमेटी के सदस्यों को अगले दो हफ्ते तक पूरे राज्य का दौरा करने को कहा, ताकि कांग्रेस और एनसीपी के खिलाफ माहौल बनाया जा सके.

मोदी लहर पर अमित शाह की इस प्रतिक्रिया ने एक बार फिर विपक्षियों को बीजेपी पर निशाना साधने का मौका दे दिया है.

कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहना है कि अमित शाह को मालूम है कि अगर वह मोदी सरकार के 100 दिन के कामकाज के दमपर वोट मागेंगे तो उनकी पार्टी हार जाएगी.

एनसीपी नेता तारिक अनवर ने कहा, 'विधानसभा उपचुनाव ने साबित कर दिया है कि बीजेपी सिर्फ मोदी के नाम पर चुनाव नहीं जीत सकती है. अमित शाह की यह टिप्पणी तथ्यों पर आधारित है. नतीजों ने यह भी साबित कर दिया है कि अगर सेकुलर पार्टियां साथ आ जाएं तो सांप्रदायिक ताकतों को रोका जा सकता है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें