scorecardresearch
 

संजय राउत बोले- शिवसेना नहीं भूली है हिंदुत्व, PM ने भी जताई है कोरोना पर चिंता

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इस मसले पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी, जिसके बाद ये विवाद शुरू हुआ. अब शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस मसले पर बयान दिया है और कहा कि शिवसेना न हिंदुत्व भूली है और न ही भूलेगी. 

शिवसेना सांसद संजय राउत (PTI) शिवसेना सांसद संजय राउत (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • धार्मिक स्थल खोलने पर महाराष्ट्र में रार
  • संजय राउत बोले- शिवसेना नहीं भूली हिंदुत्व

कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र में कई बार राजनीति गर्माई है. अब एक बार फिर धार्मिक स्थल खुलने के मसले पर राज्य में आरपार की जंग शुरू हुई है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इस मसले पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी, जिसके बाद ये विवाद शुरू हुआ. अब शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस मसले पर बयान दिया है और कहा कि शिवसेना न हिंदुत्व भूली है और न ही भूलेगी. 

संजय राउत बोले कि हिंदुत्व शिवसेना का प्राण है, आत्मा है और ये हमेशा साथ रहेगा. जिन्होंने शिवसेना पर सवाल उठाए हैं उनको आत्मनिर्भर होकर आत्मचिंतन करना चाहिए. जो उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में 3 पार्टी की सरकार चल रही है, वह बहुत मजबूत है और नियमों का पालन करके सरकार चल रही है. 

राज्यपाल द्वारा दिए गए बयान पर शिवसेना नेता ने कहा कि मंदिर और बार की तुलना करना गलत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा है कि महाराष्ट्र में कोरोना का खतरा टला नहीं है, यदि देश के PM को कोरोना का यहां खतरा लग रहा है तो महाराष्ट्र के राज्यपाल को सोचना चाहिए. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को जनता के हित में फैसला लेने का पूरा अधिकार है.

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सीएम उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर राज्य में धार्मिक स्थल खोलने पर विचार करने को कहा था. राज्यपाल ने लिखा था कि आप खुद को हिंदुत्व का समर्थक मानते हैं और आपने मंदिर से पहले राज्य में शराब की दुकानें खोल दीं. इसी चिट्ठी के जवाब में उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल को जवाब दिया था कि उन्हें किसी से हिंदुत्व पर सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है. 

राज्यपाल के बयान से इतर भारतीय जनता पार्टी भी इस मसले पर राज्य के अलग-अलग शहरों में प्रदर्शन कर रही है. बीजेपी ने मुंबई में सिद्धिविनायक मंदिर के सामने प्रदर्शन किया, इसके अलावा शिरडी में भी बीजेपी कार्यकर्ता एक दिवसीय अनशन कर रहे हैं. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें