scorecardresearch
 

मालेगांव ब्लास्ट केस: कोर्ट में पेश की गई धमाके में इस्तेमाल की गई प्रज्ञा ठाकुर की बाइक

मालेगांव ब्लास्ट में इस्तेमाल की गई बाइक कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की हैं. ब्लास्ट के बाद घटनास्थल से दो बाइक और पांच साइकिलों को जब्त किया गया था.

मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (फाइल फोटो) मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में 2008 में हुए मालेगांब ब्लास्ट केस में इस्तेमाल की गई बाइक को आज (सोमवार) सबूत के तौर पर विशेष अदालत में पेश किया गया. मालेगांव ब्लास्ट में इस्तेमाल की गई बाइक कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की हैं.

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर इसी मामले में आरोपी हैं. बता दें कि ब्लास्ट के बाद घटनास्थल से दो बाइक और पांच साइकिलों को जब्त किया गया था. इन्हें एक टैंपो में रखकर दक्षिण मुंबई के एक कोर्ट में लाया गया, जहां एनआईए के विशेष न्यायाधीश विनोद पडलकर ने इनका परीक्षण किया.  न्यायाधीश, वकील और गवाह बाइक और साइकिलों का परीक्षण करने के लिए टैंपो पर चढ़ें.

गवाह ने शिनाख्त करके बताया कि उसने 29 सितंबर 2008 को मालेगांव ब्लास्ट के दिन घटनास्थल पर यही बाइक देखी थी. अभियोजन के मुताबिक, आईईडी से विस्फोट किया गया था और इसे सुनहरे रंग की एलएमएल फ्रीडम बाइक पर रखा गया था जो ठाकुर के नाम पर रजिस्टर्ड है.

मालेगांव ब्लास्ट केस की शुरुआती जांच महाराष्ट्र एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (एटीएस) ने की थी और उसने दावा किया था कि ठाकुर ने अपने करीबी सहयोगी रामजी कलसांगरा को विस्फोट करने के लिए बाइक दी थी. कलसांगरा अब भी फरार है.

एनआईए की स्पेशल कोर्ट में मालेगांव बम धमाकों की सुनवाई कल (मंगलनार) तक के लिए स्थगित कर दी है. सुनवाई के दौरान सोमवार को सिर्फ एक आरोपी समीर कुलकर्णी कोर्ट में मौजूद था. इससे पहले कोर्ट ने पिछले महीने जून में चार आरोपियों को जमानत दे दी थी.  बता दें कि मालेगांव में बाइक और साइकिलों पर लगाए गए बमों के विस्फोट में 37 लोगों की मौत हो गई थी और 150 से अधिक लोग घायल हुए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें