scorecardresearch
 

सचिन जोशी के पिता की कंपनी पर IT का छापा, 1500 करोड़ के संदिग्ध ट्रांजैक्शन का खुलासा

IT डिपार्टमेंट ने बीते दिन सचिन जोशी के पिता जेएम जोशी के घर, दफ्तर पर छापेमारी की है. इस दौरान आयकर विभाग को करीब 1500 करोड़ रुपये की संदिग्ध ट्रांजैक्शन के बारे में पता चला है. 

सचिन जोशी को ईडी ने किया था गिरफ्तार सचिन जोशी को ईडी ने किया था गिरफ्तार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आयकर विभाग का JMJ ग्रुप के ठिकानों पर छापा
  • छापे में कैश, ज्वैलरी भी की गई है जब्त

प्रवर्तन निदेशालय द्वारा बीते दिनों अभिनेता सचिन जोशी को गिरफ्तार किया गया था. अब इस मामले में आयकर विभाग की भी एंट्री हो गई है. IT डिपार्टमेंट ने बीते दिन सचिन जोशी के पिता जेएम जोशी के घर, दफ्तर पर छापेमारी की है. इस दौरान आयकर विभाग को करीब 1500 करोड़ रुपये की संदिग्ध ट्रांजैक्शन के बारे में पता चला है. 

आयकर विभाग ने JMJ ग्रुप के मुंबई के कई दफ्तरों और उससे जुड़ी कंपनियों पर छापेमारी की थी. रविवार को ही ईडी ने सचिन जोशी को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद उन्हें 18 फरवरी तक रिमांड पर भेज दिया गया है. सचिन जोशी की गिरफ्तारी ओमकार रिलेटर्स केस को लेकर हुई है. सचिन जोशी ने ही विजय माल्या का घर करीब 73 करोड़ रुपये में खरीदा था. 

अब जिस JMJ ग्रुप पर छापेमारी की गई है, उसका मुख्य काम गुटखा, पान मसाला और उससे जुड़े प्रोडक्ट का है और हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में भी काफी कारोबार है.

आयकर विभाग के मुताबिक, छापेमारी में कई संदिग्ध जानकारी का पता लगा है. जिसमें टैक्स हैवन कंपनी ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड भी शामिल है. इस कंपनी के नेटवर्थ करीब 830 करोड़ रुपये है. इसके अलावा छापेमारी में कई डिजिटल सबूत मिले हैं, कुछ कंपनियां ऐसी हैं जो इम्प्लोयी के नाम पर बनाई गई हैं. 

छापेमारी में JMJ ग्रुप द्वारा करीब 398 करोड़ रुपये की गड़बड़ी, हिमाचल प्रदेश में दो यूनिट लगाने और अन्य धोखाधड़ी करने का खुलासा हुआ है. आयकर विभाग के अधिकारियों ने इस दौरान 13 लाख कैश, 7 करोड़ की ज्वैलरी भी जब्त कर ली है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें