scorecardresearch
 

'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे का वीडियो वायरल, अबू आजमी ने बताया फर्जी

आजमी ने कहा है कि पुलिस विभाग के अधिकारी भी वहां मौजूद थे. जैसा दावा किया जा रहा है, अगर ऐसी कोई घटना हुई होती तो मुंबई पुलिस ने कार्रवाई की होती.

अबू आजमी ने की कार्रवाई की मांग अबू आजमी ने की कार्रवाई की मांग

  • ट्वीट कर सरकार से की कार्रवाई की मांग
  • कहा- नहीं लगे ऐसे नारे, पुलिस भी थी मौजूद

कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहे महाराष्ट्र में इन दिनों एक वीडियो पर बवाल मचा है. एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें प्रदेश की उद्धव सरकार का समर्थन कर रही समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी की मौजूदगी में एक व्यक्ति 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाता नजर आ रहा है. यह वीडियो मुंबई के वडाला रेलवे स्टेशन का होने का दावा किया जा रहा है, जहां श्रमिक स्पेशल ट्रेन से मजदूरों का दल उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हो रहा था.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

अब वीडियो वायरल होने के बाद अबू आजमी ने सफाई दी है. आजमी ने कहा है कि पुलिस विभाग के अधिकारी भी वहां मौजूद थे. जैसा दावा किया जा रहा है, अगर ऐसी कोई घटना हुई होती ते मुंबई पुलिस ने कार्रवाई की होती. उन्होंने कहा कि वे वहां थे. इसे फर्जी करार देते हुए सपा नेता ने कहा कि मेरे नाम और मुंबई पुलिस के बाद कार्यकर्ताओं हकीम और शाजिद के लिए नारेबाजी हो रही थी.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

उन्होंने ऐसे पोस्ट करने वालों के खिलाफ नफरत फैलाने की कोशिश का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है. आजमी ने सोशल मीडिया पोस्ट की स्क्रीनशॉट ट्वीट करते हुए ट्विटर एडमिनिस्ट्रेशन, महाराष्ट्र साइबर सेल और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को टैग किया. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि इन महानुभावों को मेरे वीडियो में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे सुनाई दे रहे हैं. महामारी से लड़ने की बजाय इन्हें फर्जी खबर फैलाकर हिंदू-मुस्लिम को आपस में लड़ाना है. आजमी ने इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

वहीं, सपा नेता के सहयोगियों ने भी वायरल हो रहे वीडियो को एडिटेड बताया है. आजमी के सहयोगियों का दावा है कि 14 मई को छत्रपति शाहूजी टर्मिनस (सीएसटी) से एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुई. ट्रेन में सवार मजदूरों ने अबू आजमी और मुंबई पुलिस के लिए जिंदाबाद के नारे लगाए. इसके बाद लॉकडाउन के दौरान मजदूरों के लिए काम करने वाले शाहिद भाई के लिए भी नारे लगे. सहयोगियों ने भी सरकार से पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा जोड़कर वीडियो वायरल करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें