scorecardresearch
 

मुंबई:ब्रिज हादसे मामले में बीएमसी के दो इंजीनियर सस्पेंड,नगर आयुक्त ने जांच के दिए आदेश

एक अधिकारी ने बताया कि 2017-18 में पुल की बनावट और परीक्षण करने वाले अभियंता ए आर पाटिल और 2013-14 में इसके मरम्मत कार्यों का निरीक्षण करने वाले सहायक अभियंता एस एफ काकुल्ते को निलंबित कर दिया गया और उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

मुंबई में फुटओवर ब्रिज हादसा मुंबई में फुटओवर ब्रिज हादसा

मुंबई नगर आयुक्त अजय मेहता ने पैदल पार (फुट ओवर) पुल ढ़हने के मामले में शुक्रवार को बीएमसी के दो अभियंताओं(इंजीनियर) को निलंबित कर दिया है.

दक्षिणी मुंबई में एक रेलवे स्टेशन के पास बृहस्पतिवार की शाम पैदल पार पुल का बड़ा हिस्सा ढह जाने से छह लोगों की मौत हो गई थी जबकि 31 अन्य घायल हो गए थे. मेहता ने इनके खिलाफ जांच के आदेश दिए. उन्होंने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के दो रिटायर्ड मुख्य अभियंताओं के खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश दिए है.

मुख्य अभियंता (सतर्कता) द्वारा की गई जांच के बाद बीएमसी प्रमुख द्वारा ये निर्देश दिए गए है. एक अधिकारी ने बताया कि 2017-18 में पुल की बनावट और परीक्षण करने वाले अभियंता ए आर पाटिल और 2013-14 में इसके मरम्मत कार्यों का निरीक्षण करने वाले सहायक अभियंता एस एफ काकुल्ते को निलंबित कर दिया गया और उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

मेहता ने तत्कालीन मुख्य अभियंता (पुल) एस ओ कोरी और तत्कालीन उप मुख्य अभियंता आर बी तारे (दोनों रिटायर्ड) के खिलाफ भी विभागीय जांच के आदेश दिए हैं. अधिकारी ने बताया  कि जांच के बाद ही अधिकारीयों के खिलाफ आरोप तय किया जाएगा.

फुट ओवर ब्रिज 1980 में बनाया गया था जिसके रख-रखाव की जिम्मेदारी बीएमसी की थी. बता दें कि कल शाम 7 बजकर 20 मिनट पर जब ये हादसा हुआ तब रोड पर कम लोग थे.आमतौर पर इस इलाके में बहुत ट्रैफिक होता है लेकिन कल हादसे के दौरान 60 सेकेंड की रेड लाइट होने की वजह से कई लोगों की जान बच गई.

इससे पहले 29 सितंबर 2017 में मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन (अभी प्रभादेवी स्टेशन) पर भी फुट ओवर ब्रिज पर भगदड़ हुई थी. इसमें 23 लोगों की मौत हो गई थी. जबकि 50 लोग जख्मी हुए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें