scorecardresearch
 

PM मोदी की कार्यशैली से नाराज BJP सांसद ने लोकसभा से दिया इस्तीफा

महाराष्ट्र के भंडारा गोंदिया लोक सभा सीट से बीजेपी के सांसद नानाभाऊ पटोले ने लोकसभा से इस्तीफा दे दिया है. पटोले ने इस्तीफा देने की वजह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यशैली पर सवाल उठाया है. 2014 के लोकसभा चुनाव में नाना भाऊ पटोले ने एनसीपी के दिग्गज नेता प्रफुल पटेल को शिकस्त देकर सांसद बने हैं

नानाभाऊ पटोले नानाभाऊ पटोले

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से एक दिन पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. महाराष्ट्र के भंडारा गोंदिया लोक सभा सीट से बीजेपी के सांसद नानाभाऊ पटोले ने लोकसभा से इस्तीफा दे दिया है. पटोले ने इस्तीफा देने के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यशैली पर सवाल उठाया है.

2014 के लोकसभा चुनाव में नाना भाऊ पटोले एनसीपी के दिग्गज नेता प्रफुल्ल पटेल को शिकस्त देकर सांसद बने थे. पटोले पटोले पिछले काफी समय से बीजेपी नेतृत्व और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नाराज चल रहे थे. पटोले का आरोप था कि मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री के सामने किसानों के मुद्दे उठाए थे, जिसे नहीं सुना गया था. इसके बाद उन्होंने ये बात मीडिया में भी कही थी. तभी से वो नाराज चल रहे थे.

शुक्रवार को इस्तीफा देने के बाद पटोले ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया है. पिछले सप्ताह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से पटोले की मुलाकात की भी खबर है. अब इस्तीफे के बाद अटकलें लगाई जा रही हैं कि वे कांग्रेस में जा सकते हैं.

पटोले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से नाराज चल रहे थे. उन्होंने बीजेपी के पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा के नेतृत्व में चल रहे किसानों के आंदोलन में भी महाराष्ट्र में हिस्सा लिया था. पटोले ने पिछले महीने संवाददाता सम्मेलन कर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला था और कहा था कि किसानों को इस सरकार ने कुछ नहीं दिया. इसके अलावा पटोले ने जीएसटी, नोटबंदी को लेकर भी सरकार पर हमला बोला था.

दरअसल एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल की बीजेपी से बढ़ती नजदीकियां भी पटोले के इस्तीफे की वजह मानी जा रही है. पिछले दिनों जिस तरह से प्रफुल्ल पटेल ने बीजेपी के लिए दिल बड़ा किया है और गुजरात के राज्यसभा चुनाव में दोनों विधायकों के वोट कांग्रेस प्रत्याशी अहमद पटेल के बजाय बीजेपी के उम्मीदवार को दिलाए थे. इसके अलावा माना जा रहा है कि प्रफुल्ल पटेल के चलते ही गुजरात में कांग्रेस और एनसीपी के बीच गठबंधन नहीं हो सका है. इस तरह कांग्रेस भी प्रफुल्ल पटेल से नाराज चल रही थी. ऐसे में पटोले को भी अपना सियासी ठिकाना तलाशना था. इसी मद्देनजर उन्होंने पिछले दिनों कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल से मुलाकात की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें