scorecardresearch
 

MP: विधानसभा उपचुनाव से पहले प्रेमचंद गुड्डू ने फिर थामा कांग्रेस का हाथ

साल 2018 में गुड्डू कांग्रेस से नाराज होकर बीजेपी में चले गए थे और अब दो साल तक भारतीय जनता पार्टी में रहने के बाद प्रेमचंद गुड्डू ने फिर से कांग्रेस ज्वॉइन कर ली है.

प्रेमचंद गुड्डू कांग्रेस में हुए शामिल प्रेमचंद गुड्डू कांग्रेस में हुए शामिल

  • मध्य प्रदेश में प्रेमचंद गुड्डू कांग्रेस में हुए शामिल
  • बेटे अजीत बौरासी के साथ कांग्रेस में फिर से शामिल

मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले कांग्रेस के पुराने नेता ने एक बार फिर से कांग्रेस का दामन थाम लिया है. प्रेमचंद गुड्डू ने पीसी शर्मा, सज्जन सिंह वर्मा और एनपी प्रजापति की मौजूदगी में अपने बेटे अजीत बौरासी के साथ फिर से कांग्रेस ज्वॉाइन कर ली.

साल 2018 में गुड्डू कांग्रेस से नाराज होकर बीजेपी में चले गए थे और अब दो साल तक भारतीय जनता पार्टी में रहने के बाद प्रेमचंद गुड्डू ने फिर से कांग्रेस ज्वॉइन कर ली है. कांग्रेस में आते ही प्रेमचंद गुड्डू अपने बेटे के साथ सीधे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने पहुंचे.

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश: महंगी पड़ी सिंधिया के खिलाफ बयानबाजी, प्रेमचंद गुड्डू BJP से निष्कासित

कांग्रेस में आते ही प्रेमचंद गुड्डू ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधा. प्रेमचंद गुड्डू ने कहा कि सिंधिया उनको निजी तौर पर कांग्रेस में रहते हुए प्रताड़ित करते थे. जिसके बाद वो कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए और अब सिंधिया के बीजेपी में आने के बाद वो दोबारा कांग्रेस में आ गए हैं.

premchand_053120072850.jpgप्रेमचंद गुड्डू कांग्रेस में हुए शामिल

दोबारा कांग्रेस में शामिल

प्रेमचंद गुड्डू के साथ उनके बेटे अजीत बौरासी ने भी कांग्रेस की दोबारा सदस्यता ले ली है. दरअसल, प्रेमचंद गुड्डू इससे पहले कांग्रेस में थे और बाकायदा कांग्रेस के टिकट पर 2009 में उज्जैन से सांसद चुने गए थे. हालांकि 2018 में गुड्डू और उनके बेटे अजित बौरासी कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे.

यह भी पढ़ें: MP उपचुनाव फतह करने के लिए कमलनाथ ने पूर्व मंत्रियों को मोर्चे पर लगाया

हाल ही में गुडडू ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद उनपर और उनके समर्थक तुलसी सिलावट पर जमकर बयानबाजी की थी. जिसके बाद पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजा था. गुड्डू ने कहा था कि तुलसी सिलावट सिंधिया के चापलूस हैं.

विधानसभा उपचुनाव में दावेदारी

अब कांग्रेस में शामिल होने के बाद प्रेमचंद गुड्डू का कहना है कि उनकी कोई राजनीतिक महत्वकांक्षा नहीं है क्योंकि पार्टी में रहकर वो पहले विधायक और फिर सांसद बने लेकिन माना जा रहा है कि प्रेमचंद गुड्डू आगामी विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी के तुलसी सिलावट के सामने सांवेर से अपनी उम्मीदवारी ठोक सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें