scorecardresearch
 

विजयवर्गीय का अनूठा ज्ञान- खाने का 'अजीब' तरीका देख मजदूर को बताया बांग्लादेशी

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जब हाल में ही मेरे घर में एक कमरे के निर्माण का काम चल रहा था तो कुछ मजदूरों के खाना खाने का स्टाइल मुझे अजीब लगा. वे केवल पोहा खा रहे थे. मैंने उनके सुपरवाइजर से बात की और शक जाहिर किया कि क्या ये बांग्लादेशी हैं. इसके दो दिन बाद सभी मजदूर काम पर आए ही नहीं.

BJP के सीनियर नेता कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो) BJP के सीनियर नेता कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो)

  • मजदूरों के खाने का स्टाइल मुझे लगा अजीब
  • शक के बाद मजदूर पर काम पर ही नहीं आए

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'कपड़ों से पहचानने' वाला बयान दिया था. पीएम मोदी के बाद अब उनकी ही पार्टी के सीनियर नेता कैलाश विजयवर्गीय ने अजीबोगरीब बयान दिया है. कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, 'मेरे घर में काम कर रहे मजदूरों के पोहा खाने के स्टाइल से मैं समझ गया कि वह बांग्लादेशी हैं.'

गुरुवार को इंदौर शहर में एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, 'जब हाल में ही मेरे घर में एक कमरे के निर्माण का काम चल रहा था तो कुछ मजदूरों के खाना खाने का स्टाइल मुझे अजीब लगा. वे केवल पोहा खा रहे थे. मैंने उनके सुपरवाइजर से बात की और शक जाहिर किया कि क्या ये बांग्लादेशी हैं. इसके दो दिन बाद सभी मजदूर काम पर आए ही नहीं.'

पढ़ें: केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दिए CAA में बदलाव के संकेत

विजयवर्गीय ने लोगों को किया आगाह

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि इस मामले में मैंने अभी तक पुलिस शिकायत नहीं दर्ज कराई है. मैं केवल इस घटना का जिक्र करते आप लोगों को आगाह करना चाहता हूं. यह सब देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा है. मैं जब बाहर जाता हूं तो मेरे साथ 6 सुरक्षाकर्मी चलते हैं, क्योंकि घुसपैठिए देश का माहौल बिगाड़ रहे हैं.'

पढ़ें: CAA-NRC का अलग अंदाज में विरोध, पुरखों की कब्र पर रोने लगा कांग्रेसी नेता

विजयवर्गीय बोले- देश हित में है CAA

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में बोलते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, 'अफवाहों से गुमराह मत हो, सीएए में देश का हित है. यह कानून वास्तविक शरणार्थियों को नागरिकता देगा और घुसपैठियों की पहचान होगी, जो देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा हैं.'

आग लगाने वालों का पता कपड़ों से चल जाता

झारखंड में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था, 'ये कांग्रेस और उसके साथी हो-हल्ला मचा रहे हैं, तूफान खड़ा कर रहे हैं. उनकी बात चलती नहीं है तो आगजनी फैला रहे हैं. ये जो आग लगा रहे हैं, टीवी पर जो उनके दृश्य आ रहे हैं, ये आग लगाने वाले कौन हैं, उनके कपड़ों से ही पता चल जाता है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें