scorecardresearch
 

MP: BJP नेता बाबूलाल गौर ने फिर साधा अपनी ही पार्टी पर निशाना

बाबूलाल गौर ने बीजेपी आलाकमान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बीजेपी अब वो पार्टी नहीं रही जो सबको साथ लेकर चला करती थी, जबकि इसके उलट कांग्रेस बिखराव वाली पार्टी थी लेकिन अब एकजुट होकर काम कर रही है.

बाबूलाल गौर (तस्वीर- फेसबुक) बाबूलाल गौर (तस्वीर- फेसबुक)

हमेशा अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में रहने वाले मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने कांग्रेस से भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के ऑफर के बाद अब अपनी पार्टी पर निशाना साधा है. बाबूलाल गौर ने मध्य प्रदेश समेत तीन राज्यों में हार के लिए टिकट वितरण पर भी सवाल उठाए हैं और इसमें कहीं ना कहीं वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज किए जाने को जिम्मेदार बताया है.

बाबूलाल गौर ने बीजेपी आलाकमान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बीजेपी अब वो पार्टी नहीं रही जो सबको साथ लेकर चला करती थी, जबकि इसके उलट कांग्रेस बिखराव वाली पार्टी थी लेकिन अब एकजुट होकर काम कर रही है. बाबूलाल गौर ने कहा कि बीजेपी अब कुशाभाऊ ठाकरे वाली पार्टी नहीं बची है जिन्होंने बीजेपी को फर्श से अर्श तक पहुंचाया और जो हमेशा सबको साथ लेकर चले.

गौर ने कहा कि 'मध्य प्रदेश में अब बिजली के वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार किया जा रहा है'. बाबूलाल गौर ने नेताओं के नाम लेकर कहा कि 'रघुनंदन शर्मा, लक्ष्मीकांत शर्मा, राघव जी, कुसमरिया हों या फिर सरताज सिंह, पार्टी ने सभी को दरकिनार कर दिया है जबकि वरिष्ठ नेताओं के बिना पार्टी का भविष्य ठीक नहीं है और लोकसभा चुनाव में इसका खामियाजा पार्टी को उठाना पड़ सकता है.

बीजेपी ने किया बयान से किनारा

बाबूलाल गौर के इस बयान के बाद आजतक ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने इसपर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया.

क्या कांग्रेस डाल रही है गौर पर दाना?

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही बाबूलाल गौर ने यह दावा किया था कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने उन्हें भोपाल लोकसभा सीट से बतौर कांग्रेस उम्मीदवार चुनाव लड़ने का ऑफर दिया है. गौर के इस बयान के बाद बीजेपी में खलबली मच गई थी और अब गौर का सीधे तौर पर अपनी पार्टी पर सवाल उठाना बीजेपी के लिए जरूर मुश्किल खड़ा कर सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें