scorecardresearch
 

Ropeway Accident: मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख का मुआवजा, रेस्क्यू में शामिल लोग भी सम्मानित

Deoghar Ropeway Accident: रोपवे हादसे में जान गंवाने वाले तीन लोगों के परिजनों को झारखंड सरकार ने सोमवार को 5-5 लाख रुपये का चेक दिया.

X
मंत्री हफीजुल हसन मंत्री हफीजुल हसन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रोपवे हदासा: मृतकों के परिजनों को मिला मुआवजा
  • सरकार ने ₹5-5 लाख का दिया मुआवजा

Jharkhand Ropeway Accident: झारखंड में हुए रोप-वे हादसे में जान गंवाने वाले तीन लोगों के परिजनों को सरकार ने सोमवार को मुआवजा दिया है. देवघर समाहरणालय में प्रदेश के पर्यटक मंत्री हफीजुल हसन और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, देवघर विधायक नारायण दास और पूर्व मंत्री सुरेश पासवान की मौजूदगी में देवघर डीसी के हाथों तीनों मृतक के परिजनों को 5-5 लाख रुपये का चेक दिया गया.   

साथ ही पर्यटक मंत्री हफीजुल हसन ने कहा कि आने वाले समय में पीड़ित परिवार से किसी को नौकरी देने को लेकर विचार करेंगे. अभी आदर्श आचार संहिता लागू हैं, इसलिए कुछ नहीं बोलेंगे. इस दौरान रेस्क्यू ऑपरेशन में मदद करने वाले स्थानीय लोगों को प्रशस्ति पत्र और अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया. झारखड़ के देवघर में 10 अप्रैल को त्रिकुट रोप-वे हादसे में तीन पर्यटकों की मौत हो गई थी. जिसके बाद राज्य सरकार ने 5-5 लाख रुपये तीनों मृतक के परिवारों को देने की घोषणा की थी. 

बता दें कि देवघर जिला के सारठ के रहने वाली सुमंती देवी की मृत्यु हादसे के पहले दिन रोपवे से गिरने से हो गई थी. जबकि दूसरे दिन दुमका जिला के सरैयाहाट के अमित मंडल की मृत्यु रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान हेलीकॉप्टर के पास जाकर हाथ छूट जाने से नीचे गिरने से हो गई थी. तीसरे दिन देवघर की रहने वाली शोभा देवी का रेस्क्यू के दौरान रस्सी टूटने से नीचे गिर गईं और फिर शोभा देवी की मृत्यु हो गई. 

गौरतलब है कि त्रिकूट पर्वत पर रोप-वे की ट्रालियां आपस में टकराने से यह हादसा हुआ था. जिसकी वजह से करीब आधा दर्जन ट्रॉलियां हवा में अटक गई थीं जिसमें करीब 50 से अधिक लोग सवार थे. जिस वक्त हादसा हुआ, उस वक्त कुछ लोग घायल हुए थे, जिनमें एक की मौत हो गई थी. इसके बाद दो अन्य लोगों की रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान मौत हो गई थी. सेना, आईटीबीपी, एनडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन ने 45 घंटे तक रेस्क्यू अभियान चलाकर बाकी लोगों को निकाला.

(शैलेन्द्र मिश्रा की रिपोर्ट)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें