scorecardresearch
 

भाई की सजा नाबालिग बहन को मिली,पंचायत का रेप का फरमान

देश में आज भी ऐसी पंचायत मौजूद है जिनके फैसले इंसानियत से विश्वास उठाने के लिए काफी हैं. झारखंड के बोकारो जिले की पंचायत ने एक युवक की 10 साल की बहन के साथ रेप का आदेश दे दिया. इस युवक पर इलाके की महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करने का आरोप था.

देश में आज भी ऐसी पंचायत मौजूद है जिनके फैसले इंसानियत से विश्वास उठाने के लिए काफी हैं. झारखंड के बोकारो जिले की पंचायत ने एक युवक की 10 साल की बहन के साथ रेप का आदेश दे दिया. इस युवक पर इलाके की महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करने का आरोप था.

पंचायत के इस शर्मनाक फैसले के बाद तमाम लोगों की मौजूदगी में 10 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया. बच्ची की मां वहां मौजूद सभी लोगों से मदद मांगती रही लेकिन किसी ने उस बच्ची की मदद नहीं की.

भीड़ में से एक व्यक्ति बच्ची को उठाकर जंगल ले गया. जहां उसने बच्ची के साथ एक घंटे तक दुष्कर्म किया. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर तेनुघाट जेल भेज दिया.

दुष्कर्म करने वाला आरोपी शिकायत करने वाली महिला का पति है. इसी महिला ने बच्ची के भाई पर आपत्तिजनक व्यवहार का आरोप लगाया था.

पुलिस ने पीड़िता के भाई को भी गिरफ्तार कर लिया है. इस युवक पर आरोप है कि रविवार देर रात शराब पीकर अपने घर की बजाय पड़ोसी के घर घुस गया था. जहां इसने शिकायतकर्ता महिला के साथ आपत्तिजनक व्यवहार किया.

स्वांग उत्तरी पंचायत गोमिया के मुखिया विनोद विश्वकर्मा ने इस इस पूरे वाकये पर कहा कि इस तरह की परंपरा को बदलना की जरूरत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें