scorecardresearch
 

CAA के समर्थन में निकाली गई BJP की रैली में बवाल, पथराव में कई घायल

एक ओर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में प्रदर्शन हो रहा है तो दूसरी ओर इस कानून के विरोध में बीजेपी ताबड़तोड़ रैलियां कर रही है, लेकिन झारखंड के लोहरदगा में समर्थन में रैली निकालने के दौरान पथराव हो गया.

CAA के समर्थन में देश के कई हिस्सों में रैली कर रही बीजेपी (फाइल-PTI) CAA के समर्थन में देश के कई हिस्सों में रैली कर रही बीजेपी (फाइल-PTI)

  • सांसद सुदर्शन भगतः यह घटना निंदनीय
  • पत्थरबाजी में दर्जन भर लोग घायल हुए

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन और विरोध में जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं. झारखंड के लोहरदगा में गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने सीएए के समर्थन में रैली निकाली. इस दौरान रैली पर पथराव हुआ है.

लोहरदगा में हुए पथराव में दर्जनभर लोग घायल हो गए हैं. मौके पर मौजूद बीजेपी सांसद सुदर्शन भगत ने इस मसले पर कहा कि यह घटना निंदनीय है, ऐसा नहीं होना चाहिए था.

'पत्थरबाजी बेहद दुर्भाग्यपूर्ण'

आर्य वीर दल झारखंड प्रांत प्रभारी आचार्य शरदचंद्र आर्य ने कहा कि हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे, इस तरह पत्थरबाजी बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. पत्थरबाजी में कम से कम दर्जन भर लोगों को चोटें आई हैं.

लोहरदगा में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में निकले विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी), बीजेपी और अन्य समर्थक संगठनों की रैली में जमकर पथराव हुआ. सीएए का विरोध कर रहे लोग पहले से गलियों में जमा हो गए थे और माना जा रहा है कि समर्थन में रैली निकालने वालों के आने के बाद मामला गरमा गया और पथराव की घटना हो गई.

इसे भी पढ़ें--- नेताजी के हाथ में BJP का झंडा, खफा हुए चंद्र बोस, CAA पर छोड़ सकते हैं पार्टी

कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन

इस बीच सीएए के विरोध में देशभर में कई विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं. दिल्ली के शाहीन बाग की तरह देश के कई अन्य शहरों में भी विरोध शुरू हो गया है. इसी तरह वाराणसी के बेनिया बाग के गांधी चौराहे पर भी प्रदर्शन शुरू हो गया है.

इसे भी पढ़ें--- CAA के खिलाफ राज्यों के प्रस्ताव पर बोले शशि थरूर- ये महज राजनीति

हालांकि बेनिया बाग में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं को जब पुलिस ने गिरफ्तार करने की कोशिश की तो उन पर पथराव कर दिया गया. इससे पहले महिलाओं के प्रदर्शन की खबर पाकर मौके पर पुलिस पहुंच गई और प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया. इसके साथ ही बेनिया बाग को छावनी में बदल दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें