scorecardresearch
 

झारखंड: खूंटी में आकाशीय बिजली गिरने से एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत, 2 बुरी तरह झुलसे

मृतकों में 60 साल के मंगा मुंडा के साथ ही उनकी 54 साल की पत्नी जीवंती मुंडाइन, 28 साल का बेटा पूना मुंडा, 25 साल की बहू जया मुंडा और एक एक साल का बच्चा आयुष मुंडा शामिल हैं.

मौके पर पहुंची पुलिस और जुटी भीड़ मौके पर पहुंची पुलिस और जुटी भीड़
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परिवार में बची एक लड़की और 2 साल का लड़का
  • एक अन्य घटना में झुलसे दो लोग, चल रहा उपचार

झारखंड के खूंटी में आकाशीय बिजली कहर बनकर गिरी है. खूंटी जिले में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई है. वहीं एक अन्य घटना में आकाशीय बिजली की चपेट में आकर दो लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं. आकाशीय बिजली की चपेट में आकर झुलसे दोनों लोगों का इलाज खूंटी जिले के कर्रा सीएचसी में चल रहा है. घटना शनिवार की शाम करीब 4 बजे की है.

जानकारी के मुताबिक खूंटी जिले में 60 साल के मंगा मुंडा अपने परिवार के साथ खेत में गए थे. मंगा मुंडा हल-बैल लेकर खेत गए थे. इसी बीच बारिश शुरू हुई तो वे घर लौटने लगे. घर लौटते समय बारिश तेज हुई तो परिवार के लोग बचने के लिए एक पेड़ की ओट में छिप गए और बारिश के रुकने का इंतजार करने लगे. मंगा मुंडा और उनके परिवार के अन्य सदस्यों को क्या पता था कि बारिश के साथ काल उनका पीछा कर रहा है.

अचानक आकाशीय बिजली गिरी और मंगा मुंडा और उनके परिवार के चार अन्य सदस्य इसकी चपेट में आ गए. सभी की मौके पर ही मौत हो गई. मृतकों में 60 साल के मंगा मुंडा के साथ ही उनकी 54 साल की पत्नी जीवंती मुंडाइन, 28 साल का बेटा पूना मुंडा, 25 साल की बहू जया मुंडा और एक एक साल का बच्चा आयुष मुंडा शामिल हैं. घटना की जानकारी पाकर मौके पर कर्रा थाने की पुलिस भी पहुंच गई.

मौके पर पहुंची कर्रा पुलिस शवों को कब्जे में लेकर थाने आई. मृतक मंगा मुंडा की बेटी करुणा को घटना की खबर दी गई. वह अपने घर के नन्हें चिराग समेत पांच लोगों की मौत की खबर सुनकर  बार-बार बेहोश हो जा रही थी. बताया जाता है कि मृतक पूना मुंडा की एक बहन है जो दिल्ली में रहती है. उसका दो साल का बेटा अर्पण मुंडा भी इस घटना में बच गया है.

आकाशीय बिजली से दो झुलसे

आकाशीय बिजली गिरने की एक अन्य घटना में दो लोग गंभीर रूप से झुलस गए. दूसरी घटना भी कर्रा थाने के ही भूसा टोली की है जहां खेत में काम करने के दौरान भौवा होरो और दुलारी होरो बज्रपात से झुलस गईं. दोनों घायलों को आनन-फानन में उपचार के लिए कर्रा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) ले जाया गया जहां दोनों का उपचार चल रहा है.

(खूंटी से अरविंद सिंह के इनपुट के साथ)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×