scorecardresearch
 

चार साल के बेटे ने आतंकी से की थी सरेंडर की अपील, नहीं मानने पर शोपियां एनकाउंटर में ढेर हुआ आकिब

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों ने बीते दिन आतंकियों को ढेर किया. इसी एनकाउंटर से जुड़ा एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रहा है, जहां एक आतंकी का चार साल का बच्चा अपने पिता से वापस लौटने की अपील कर रहा है.

X
शोपियां एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने ढेर किए थे आतंकी (फाइल फोटो: PTI)
शोपियां एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने ढेर किए थे आतंकी (फाइल फोटो: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शोपियां एनकाउंटर में चार आतंकी ढेर
  • बेटे ने आतंकी बाप से की थी सरेंडर की अपील

कश्मीर की घाटियों में सुरक्षाबलों द्वारा आतंकवादियों का खात्मा करना जारी है. दक्षिण कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों ने बीते दिन आतंकियों को ढेर किया. इसी एनकाउंटर से जुड़ा एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रहा है, जहां एक आतंकी का चार साल का बच्चा अपने पिता से वापस लौटने की अपील कर रहा है. हालांकि, आतंकी बाप पर अपने बेटे की अपील का कोई असर नहीं पड़ा. 

शोपियां में जब सुरक्षाबल लश्कर ए तैयबा के आतंकियों के साथ मुठभेड़ कर रहे थे, तब आतंकियों को ढेर करने से पहले सुरक्षाबलों ने सरेंडर करने की अपील की थी. सुरक्षाबलों की तरफ से आतंकियों के परिवार को लाया गया था, ताकि उनकी अपील पर आतंकी सरेंडर कर दें.

इन्हीं आतंकियों में से एक 25 साल के आकिब अहमद मलिक था, जिसने तीन महीने पहले ही आतंक की राह पकड़ी थी. एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबल आकिब के चार साल के बेटे को लेकर आए, तब उसने अपनी पिता को आवाज़ लगाई. बेटे ने कहा, ‘आप आ जाइए...ये आपको कुछ नहीं कहेंगे..बाहर आइए...आपकी याद आ रही है.’

सिर्फ आतंकी के बेटे ही नहीं बल्कि पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों ने भी सरेंडर कर देने की अपील की. लेकिन आतंकी आकिब ने अपने परिवार की एक ना सुनी, जिसके बाद वो सुरक्षाबलों की गोलियों का शिकार हो गया. शोपियां के एनकाउंटर में आकिब समेत कुल चार आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने ढेर किया है. 

इंडियन आर्मी के मेजर जनरल राशिम बाली के मुताबिक, आतंकी आकिब का परिवार उसे सरेंडर करने की अपील कर रहा था, वो बाहर आना भी चाहता था लेकिन उसके साथियों ने ऐसा नहीं होने दिया. पुलिस आईजी विजय कुमार की ओर से भी बयान दिया गया कि हमारी कोशिश रहती है कि कोई लोकल है, तो उसे सरेंडर करने का मौका मिले लेकिन इन आतंकियों ने ऐसा नहीं किया. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें