scorecardresearch
 

गृहमंत्री से मुलाकात के बाद CM मुफ्ती बोली- कश्मीर में हिंसा कम हुई

केंद्र सरकार से जो भी पैकेज मिल रहा है उसकी मदद से कश्मीर में डेवलपमेंट का काम तेजी से किया जा रहा है. जम्मू कश्मीर में एम्स बनाने का काम किया जा रहा है.

फाइल फोटो. फाइल फोटो.

कश्मीर के वर्तमान हालात पर चर्चा के लिए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गृह मंत्रालय में एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी. इस बैठक में जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहिर, केंद्रीय गृह सचिव ,जम्मू कश्मीर के डीजीपी एस पी वैद्य और जॉइंट सेक्रेटरी और प्रमुख सचिव मौजूद थे.

मीटिंग के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने आजतक से बातचीत में कहा कि "इस बैठक में जम्मू-कश्मीर से जुड़े हुए तमाम विकास के मुद्दों पर चर्चा की गई. केंद्र सरकार की तरफ से 80 हजार करोड़ रुपए का जो पैकेज जम्मू कश्मीर के लिए दिया गया है. उस पर किस तरीके से काम चल रहा है. इसके अलावा कानून व्यवस्था के हालात को और कैसे बेहतर बनाया जाए उस पर भी बातचीत हुई.

अहीर ने आगे कहा कि आतंकियों के खिलाफ ऐसे ही ऑपरेशन चलते रहेंगे, लेकिन जो मुख्य वार्ताकार नियुक्त किए गए हैं उनको बातचीत के लिए पूरी छूट दी जाएगी कि वह किससे बात करना चाहते हैं और किससे से नहीं.

उधर, गृह मंत्री से मुलाकात के बाद जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में हिंसा में कमी आई है. केंद्र सरकार से जो भी पैकेज मिल रहा है उसकी मदद से कश्मीर में डेवलपमेंट का काम तेजी से किया जाएगा. जम्मू कश्मीर में एम्स बनाने का काम भी चल रहा है.

सूत्रों के मुताबिक़, जम्मू कश्मीर में पंचायत चुनाव कराने और नए वार्ताकार की नियुक्ति और जम्मू कश्मीर में कानून व्यवस्था पर चर्चा भी हुई है. इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने नियुकि के समय ये साफ कहा था कि दिनेश्वर शर्मा राज्य सरकार और केन्द्र सरकार दोनो के संपर्क में रहेंगे. ऐसे में महबूबा मुफ़्ती की गृहमंत्री के साथ मुलाक़ात में दिनेश्वर शर्मा के काम की दिशा पर बातचीत होने की संभावना जताई जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें