scorecardresearch
 

पुलवामा हमला: गुस्से में देश, जगह-जगह PAK के खिलाफ प्रदर्शन

देश के कई शहरों में लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया. शुक्रवार को बीजेपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत कई दलों और संगठनों ने जम्मू-कश्मीर बंद बुलाया किया है.

पुलवामा में आतंकी हमले की तस्वीर (ANI) पुलवामा में आतंकी हमले की तस्वीर (ANI)

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले से देश गुस्से में है. भारत सरकार ने कहा है पुलवामा हमले का करारा जवाब दिया जाएगा. देश भी सरकार से मुंहतोड़ जवाब की मांग कर रहा है. देश के कई शहरों में लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया. शुक्रवार को बीजेपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत कई दलों और संगठनों ने जम्मू-कश्मीर बंद बुलाया किया है.

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के खिलाफ देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों में आक्रोश है. पुलवामा में जम्मू श्रीनगर हाईवे पर सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर कायरतापूर्ण हमले के खिलाफ भोपाल में प्रदर्शन किया गया. बड़ी तादाद में लोग पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लिखी तख्ती लेकर सड़कों पर उतरे और आतंक के आका के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

इसके अलावा पश्चिम बंगाल के आसनसोल में भी आतंकी हमले के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने आतंकवाद और पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और आतंकियों का पुतला दहन कर अपने गुस्से का इजहार किया. टीएमसी कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी पर आतंकी हमले रोकने में नाकाम होने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा मांगा. उनका कहना है कि जो हमारे जवान की रक्षा नहीं कर पाता है, उस प्रधानमंत्री को और एक घंटा भी रहने का कोई अधिकार नहीं है.

पाकिस्तान के खिलाफ राजस्थान के बीकानेर में भी विरोध प्रदर्शन हुआ. बीकानेर में कैप्टन चंद्र चौधरी स्मारक पर जमाकर होकर लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगाते हुए भारत माता की जय के नारे लगाए. आतंकवादी हमले के खिलाफ गुस्सा यूपी के संभल में भी नजर आया. यहां के चंदौसी भगत सिंह पार्क में हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता इकट्ठा हुए और मोमबत्ती जलाकर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान एक समाजसेवी ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाए और हमला करने वालों की गर्दन काट दी जाए.

वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर रोजाना होने वाली गंगा आरती पर भी जवानों की शहादत का शोक छाया रहा. आरती में शामिल लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर देश के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि दी. बहादुर जवानों की शहादत से शहर-शहर गुस्से में है. सरकार पर दवाब है कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें