scorecardresearch
 

कोरोना संकट के बीच लद्दाख में आज मनाई जाएगी ईद, नजर आया चांद

लद्दाख में शनिवार को ईद मनाई जाएगी. लद्दाख, करगिल क्षेत्र में शुक्रवार को चांद देखा गया. इसलिए लद्दाख में 23 मई को ईदुल फितर मनाया जाएगा.

ईद के लिए खरीदारी करते लोग (फोटो-PTI) ईद के लिए खरीदारी करते लोग (फोटो-PTI)

  • लद्दाख में शुक्रवार को नजर आया चांद
  • 23 मई को लद्दाख में मनेगा ईदुल फितर

लद्दाख में शनिवार को ईद मनाई जाएगी. लद्दाख, करगिल क्षेत्र में शुक्रवार को चांद देखा गया. इसलिए लद्दाख में 23 मई को ईदुल फितर मनाया जाएगा. इस बार कोरोना संकट के बीच पूरे देश में ईद मनाई जाएगी, जिसमें लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए त्योहार मनाना पड़ेगा.

मोदी सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया है. लिहाजा इस दौरान देशभर में धार्मिक स्थल बंद रहेंगे और सभी सार्वजनिक आयोजनों पर पाबंदी रहेगी.

इस बीच, ईद का त्योहार है. लिहाजा इस बार की ईद लॉकडाउन 4.0 में मनाई जाएगी. इस दौरान किसी को ईदगाह या मस्जिद में जमा होने की इजाजत नहीं होगी. लॉकडाउन 4.0 के दौरान धार्मिक स्थलों के अलावा जिम, स्वीमिंग पूल, स्कूल, कॉलेज, रेस्टोरेंट, होटल, सिनेमा हॉल और मॉल बंद रहेंगे. हालांकि स्कूल और कॉलेजों को ऑनलाइन पढ़ाई कराने की इजाजत होगी.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

रेलवे, मेट्रो, घरेलू और विदेशी उड़ानों पर भी रोक जारी रहेगी. इस बार लॉकडाउन में कई रियायतें भी दी गई हैं, लेकिन उन रियायतों के साथ शर्तें लगाई गई हैं. साथ ही देश में कोरोना को लेकर पांच जोन बनाने का फैसला लिया गया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

नए रंग-रूप वाले लॉकडाउन में राज्यों के बीच यात्री वाहन और बसें भी चलेंगी, लेकिन इसमें राज्यों के बीच आपसी सहमति जरूरी है. इससे पूरे देश में फंसे लोग अपनी-अपनी मंजिल तक का सफर सड़क के रास्ते तय कर सकेंगे. होटल और रेस्टोरेंट से होम डिलीवर की इजाजत दी गई है. इस लिहाज से मिठाई की दुकानें भी खुलेंगी, लेकिन वहां खाने की इजाजत नहीं होगी.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

इसके अलावा स्टेडियम और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स खुलेंगे, लेकिन दर्शकों को वहां जाने की इजाजत नहीं होगी. वहीं शादी समारोह में 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोगों को शामिल होने की इजाजत जारी रहेगी. इस लिहाज से लॉकडाउन 4.0 में कमोबेश वैसी ही पाबंदियां हैं, लेकिन दुकान खोलने की रियायत को लेकर राज्यों को ज्यादा अधिकार दिए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें