scorecardresearch
 

हंदवाड़ा में शहीद मेजर अनुज का सेना से पुराना नाता, IIT छोड़ चुनी थी NDA की राह

मेजर अनुज सूद ब्रिगेड ऑफ गार्ड्स के अधिकारी थे. अनुज सूद का चयन इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में भी हो गया लेकिन उन्होंने आईआईटी की जगह एनडीए को चुना.

हंदवाड़ा मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर अनुज सूद (फाइल फोटो) हंदवाड़ा मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर अनुज सूद (फाइल फोटो)

  • NDA में हर सेमेस्टर में अव्वल रहे मेजर अनुज सूद
  • इन्फैंट्रीमैन होने के बावजूद एमटेक की क्लास में रहे टॉपर

जम्मू और कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में कर्नल, मेजर और 3 जवान शहीद हो गए. एनकाउंटर में शहीद होने वाले जांबाजों में एक नाम मेजर अनुज सूद का भी है. मेजर अनुज सूद ब्रिगेड ऑफ गार्ड्स के अधिकारी थे. सेना के इस जांबाज अधिकारी का नाता भारतीय सेना से पुराना रहा है. पिता सीके सूद सेना में ब्रिगेडियर रहे हैं. हरियाणा के पंचकूला के रहने वाले मेजर अनुज एनकाउंटर में वीरगति को प्राप्त हो गए.

पंजाब पब्लिक स्कूल, नाभा के छात्र रहे अनुज सूद पढ़ाई में बेहद तेज रहे. पीपीएस में हर क्लास में मेजर अनुज सूद ने खुद को अव्वल साबित किया. होनहार अनुज सूद का चयन इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) में हो गया था, लेकिन उन्होंने आईआईटी की जगह एनडीए को चुना.

कश्मीर: हंदवाड़ा में शहीद हुए कर्नल आशुतोष के नाम वीरता की कई मिसालें

हमेशा रहे क्लास टॉपर

एनडीए में मेजर सूद ने कीर्तिमान स्थापित किया. 6 बार वे अपने अनुशासन और इंटेलिजेंस के चलते अव्वल रहे. इन्फैंट्रीमैन होने के बावजूद उन्होंने आईआईएससी बेंगलुरु से एमटेक किया और डिस्टिंक्शन मार्क से टॉप किया.

2 साल पहले ही हुई थी शादी

मेजर अनुज सूद की शादी 2 साल पहले हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा की रहने वाली आकृति से हुई थी. अभी उनका कोई बच्चा नहीं है. मेजर सूद की पत्नी पुणे में एक प्राइवेट कंपनी में कार्यरत हैं. मेजर अनुज के पिता ब्रिगेडियर सीके सूद अमरावती एन्क्लेव में रहते हैं.

बहन भी सेना में है तैनात

मेजर अनुज की माता सुमन यमुनानगर के एक सरकारी स्कूल में बतौर प्रिसिपल कार्यरत हैं. मेजर अनुज सूद की एक बड़ी बहन ऑस्ट्रेलिया में रहती है, वहीं छोटी बहन सेना में तैनात है.

6 दिन से आतंकियों के पीछे पड़ी थी सेना, जानें- हंदवाड़ा एनकाउंटर की पूरी कहानी

पंचकूला में होगा अंतिम संस्कार

सूद परिवार लगभग 8 महीने पहले पंचकूला स्थित अमरावती एन्क्लेव में रहने आया था. घर अभी निर्माणाधीन है. मेजर अनुज सूद का पार्थिव शरीर सोमवार को ही पंचकूला पहुंचेगा. मनीमाजरा स्थिति श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

5 सुरक्षाकर्मी हुए शहीद

हंदवाड़ा के राजवार इलाके में मुठभेड़ के दौरान रविवार को पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए. शहीद सुरक्षाकर्मियों में 21 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राकेश, लांस नायक दिनेश के साथ जम्मू कश्मीर पुलिस के सब इंस्पेक्टर शकील काजी शामिल हैं. सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकी को भी ढेर कर दिया. मरने वाले दोनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे. एक आतंकी स्थानीय बताया जा रहा है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें