scorecardresearch
 

J-K: नारंग इलाके में एनकाउंटर, सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों के किया ढेर

जम्मू-कश्मीर में आज कई जगहों पर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो रही है. एक तरफ बटोट इलाके में स्थित एक घर में घुसकर आतंकियों ने लोगों को बंधक बनाया तो वहीं गांदरबल के नारंग इलाके में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को मार गिराया.

जम्मू-कश्मीर में कई जगहों पर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई (फाइल फोटो-IANS) जम्मू-कश्मीर में कई जगहों पर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई (फाइल फोटो-IANS)

  • बटोट इलाके में आतंकियों ने लोगों को बंधक बनाया
  • श्रीनगर में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड हमला किया

जम्मू-कश्मीर में आज कई जगहों पर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो रही है. एक तरफ बटोट इलाके में स्थित एक घर में घुसकर आतंकियों ने लोगों को बंधक बनाया तो वहीं गांदरबल के नारंग इलाके में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को मार गिराया. इसके अलावा श्रीनगर में डाउनटाउन इलाके में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड हमला किया है. हालांकि इस हमले में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि 3 आतंकी ग्रेनेड हमला करने के बाद घर में घुसे और सुरक्षाबलों ने उनका पीछा करते हुए घेर लिया है. तीनों आतंकी विजय कुमार नाम के शख्स के घर में घुसे. उस वक्त उनके परिवार के अन्य लोग घर से बाहर थे.

इसके बाद आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी. जवाब में पुलिस और सेना ने भी आतंकियों को निशाना बनाकर गोलीबारी की. इंटेलिजेंस के सूत्रों के मुताबिक ये तीनों आतंकवादी उसी समूह का हिस्सा हैं, जो डोडा-बटोत रोड पर हलडानू एनकाउंटर साइड से फरार हुए थे.

ये आतंकवादी घने जंगलों में 9 किलोमीटर तक पैदल चलते हुए विजय कुमार के घर पहुंचे. उनका घर जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर स्थित बटोत बस अड्डे से महज 300 मीटर दूर है. बटोत इलाके में हो रही बारिश के कारण सुरक्षाबलों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

हमले की तैयारी में आतंकी

इस बीच, इंटेलिजेंस एजेंसियों को ऐसे इनपुट्स मिले हैं कि संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बैठक खत्म होने के बाद पाकिस्तान नियंत्रण रेखा (LoC) के पास कुछ बड़ा करने की तैयारी में है. इसके लिए नागरिकों को शील्ड बनाया जा सकता है. इंटेलिजेंस एजेंसियों ने एलओसी के पास सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया है.

सूत्रों ने इनपुट्स के हवाले से बताया कि पाकिस्तानी सेना और ‘जमात-उल-अल-हदीस’ ने 3 हजार से 4 हजार युवाओं को अक्टूबर के पहले हफ्ते में एलओसी के उल्लंघन के लिए तैयार किया है. इन्हें एक महीने तक ट्रेनिंग दी गई है.  ‘जमात-उल-अल-हदीस’ 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का नया फ्रंटल संगठन है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें