scorecardresearch
 

J-K से 370 हटने पर भी नहीं रुकी पत्थरबाजी, 2 महीने में 300 से ज्यादा घटनाएं

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से अब तक 300 से ज्यादा बार पत्थरबाजी हो चुकी है, जिसमें करीब 100 सुरक्षाकर्मी घायल भी हुए हैं. सुरक्षा बलों के इंटरनल डॉक्यूमेंट के विश्लेषण में यह बात सामने आई है, जो जम्मू-कश्मीर प्रशासन के दावे से अलग तस्वीर पेश करती है.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

  • 370 हटने के बाद हुई पत्थरबाजी में 100 सुरक्षाकर्मी भी हुए घायल
  • जम्मू-कश्मीर प्रशासन लगातार कर रहा हालात सामान्य होने के दावे

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बावजूद पत्थरबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है. 5 अगस्त से लेकर अब तक जम्मू-कश्मीर में 300 से ज्यादा बार पत्थरबाजी की घटनाएं सामने आ चुकी हैं. हालांकि सुरक्षा बल लगातार घाटी में हालात सामान्य होने का दावा कर रहा है.

100 में से 89 सीआरपीएफ सुरक्षाकर्मी घायल

सुरक्षा बलों के इंटरनल डॉक्यूमेंट के विश्लेषण में यह बात सामने आई है, जो जम्मू-कश्मीर प्रशासन के दावे से अलग तस्वीर पेश करती है. इस दस्तावेज में यह भी कहा गया कि पत्थरबाजी की इन घटनाओं में करीब 100 सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं. इनमें से 89 सुरक्षाकर्मी सीआरपीएफ के हैं.

वहीं, जम्मू-कश्मीर प्रशासन दावा कर रहा है कि केंद्रशासित राज्य बनने जा रहे जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य हैं और काफी हद तक शांति है.

सीआरपीएफ के एक शीर्ष अधिकारी ने आजतक से बातचीत में कहा कि पत्थरबाजी इतनी घटनाएं हो सकती हैं, लेकिन साल 2016 के मुकाबले प्रदर्शनकारियों की संख्या बेहद कम है. साल 2016 में आतंकी बुहरान वानी की मौत के बाद जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें