scorecardresearch
 

अमरनाथ यात्रियों को रेलवे का तोहफा, दिल्ली से उधमपुर तक चलेगी स्पेशल ट्रेन

अमरनाथ यात्रा की शुरुआत 1 जुलाई से होने वाली है. सरकार इस यात्रा को सुरक्षित संपन्न करवाने की हर कोशिश में लगी हुई है. इसी बीच अब भारतीय रेलवे ने अमरनाथ यात्रा के लिए स्पेशल ट्रेन का तोहफा दिया है. अमरनाथ यात्रियों के लिए रेलवे ने एक स्पेशल ट्रेन चलाने का ऐलान किया है.

अमरनाथ यात्रियों के लिए स्पेशल ट्रेन की सुविधा अमरनाथ यात्रियों के लिए स्पेशल ट्रेन की सुविधा

अमरनाथ यात्रा की शुरुआत 1 जुलाई से होने वाली है. सरकार इस यात्रा को सुरक्षित संपन्न करवाने की हर कोशिश में लगी हुई है. इसी बीच अब भारतीय रेलवे ने अमरनाथ यात्रा के लिए स्पेशल ट्रेन का तोहफा दिया है. अमरनाथ यात्रियों के लिए रेलवे ने एक स्पेशल ट्रेन चलाने का ऐलान किया है.

ये  ट्रेन दिल्ली से जम्मू कश्मीर के बीच चलेगी और बीच में 11 स्टेशन पर रुकेगी. रेलवे का कहना है कि अमरनाथ यात्रा के दौरान रेलयात्रियों की अतिरिक्त संख्या के सुविधाजनक आवागमन के लिए उत्तर रेलवे ने रेलगाड़ी चलाई है. ट्रेन आनंद विहार टर्मिनल से हफ्ते में 2 बार चलेगी. 04401 संख्या की ट्रेन 1 जुलाई से 15 अगस्त के बीच हर सोमवार और गुरुवार को चलेगी.

इसके अलावा 04402 संख्या वाली ट्रेन उधमपुर से 2 जुलाई से 16 अगस्त तक हर मंगलवार और शुक्रवार को चलेगी. ये ट्रेनें गाजियाबाद, मेरठ सिटी जंक्शन, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, यमुनानगर जगाधरी, अंबाला कैंट जंक्शन, लुधियाना जंक्शन, जालंधर कैंट, पठानकोट कैंट और जम्मू तवी स्टेशन पर रुकेगी. ये दोनों ट्रेनें कुछ 28 फेरे लेंगी. इन ट्रेनों में स्लीपिंग और जनरल क्लाास की सुविधा उपलब्ध होगी. इस बात की जानकारी देते हुए रेलवे ने सूचना भी जारी की है कि रेल टिकट काउंटर या अधिकृत रेल एजेंट से ही खरीदें.

1_061619081036.jpgअमरनाथ यात्रियों के लिए स्पेशल ट्रेन की सुविधा

अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले का खतरा

इस बार अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है. 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमला हुआ था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद अनंतनाग में आतंकी हमला हुआ है, जिसमें सीआरपीएफ के 5 जवान शहीद हो गए. ये दोनों आतंकी हमले जहां पर हुए, वो अमरनाथ यात्रा रूट पर पड़ते हैं. इसके बाद यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और सुरक्षा बल कश्मीर में आतंकियों का लगातार सफाया कर रहे हैं. गृहमंत्री अमित शाह के लिए पहली चुनौती अमरनाथ यात्रा पर भक्तों की सुरक्षा है.

सूत्रों के मुताबिक, अमरनाथ यात्रा के दौरान फिदायीन हमले का खतरा मंडरा रहा है. सूत्रों का कहना है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा की बजाय छोटे-छोटे पाकिस्तान परस्त आतंकी संगठन जैसे अल बद्र और अल उमर मुजाहिदीन सुरक्षा एजेंसियों को चकमा देकर अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में लगे सुरक्षा बलों को निशाना बना सकते हैं.

इन सबको ध्यान में रखते हुए सुरक्षा बलों और गृह मंत्रालय ने इस साल अमरनाथ यात्रा के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं. इस बार की अमरनाथ यात्रा में 350 से ज्यादा अर्द्धसैनिक बलों की कंपनियां सुरक्षा में तैनात की जाएंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें