scorecardresearch
 

पार्थिव देह मिलेगी या अस्थियां! सऊदी अरब में मुस्लिम बताकर दफनाए गए संजीव का परिवार चिंतित

सऊदी अरब में मुस्लिम बताकर दफनाए गए ऊना के संजीव के परिजन अंतिम संस्कार के लिए पार्थिव देह भारत लाए जाने की मांग कर रहे हैं. संजीव को दफनाए जाने के दो सप्ताह बाद उनका परिवार आशंकित है कि अब मृतक की पार्थिव देह भारत आएगी या उनकी अस्थियां मिलेंगी.

X
सऊदी अरब में मुस्लिम बताकर दफनाए गए संजीव का परिवार चिंतित सऊदी अरब में मुस्लिम बताकर दफनाए गए संजीव का परिवार चिंतित
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीड़ित परिवार वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से दो बार मिला
  • अनुराग ने जल्द कार्रवाई करने का दिया आश्वासन
  • पार्थिव देह को अंतिम संस्कार हेतु भारत लाए जाने की कोशिश

सऊदी अरब में मुस्लिम बताकर दफनाए गए ऊना के संजीव के परिजन अंतिम संस्कार के लिए पार्थिव देह भारत लाए जाने की मांग कर रहे हैं. संजीव को दफनाए जाने के दो सप्ताह बाद उनका परिवार आशंकित है कि अब मृतक की पार्थिव देह भारत आएगी या उनकी अस्थियां. पीड़ित परिवार वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से दो बार मिलने के बावजूद मामले में हो रही देरी से भारत सरकार की कार्यप्रणाली पर प्रश्न खड़े कर रहा है.

अनुराग ठाकुर ने इस मामले में जल्द उचित कार्रवाई का दावा किया और इस मामले में एक हिन्दू को मुस्लिम बताकर दफनाए जाने को अन्याय बताया. बेटे का पार्थिव देह के इंतजार में मृतक संजीव की मां भी दम तोड़ चुकी हैं. जो व्यक्ति कमाने खाने के लिए विदेश जाए. अगर उसी परिवार को अपने बेटे के अंतिम दर्शन भी न हो सके. इससे बड़ी विडम्बना एक भारतीय परिवार के लिए और क्या हो सकती है? ऊना में एक परिवार दुख के इसी दर्द से गुजर रहा है. 

दरअसल, ऊना के संजीव की सऊदी अरब में 24 जनवरी को मौत हो गई थी. वह वहां पिछले लगभग 22 साल से पहले बतौर ड्राइवर और बाद में स्टोर इंचार्ज के रूप में नौकरी करते थे लेकिन बीमारी के कारण उनकी वहां मौत हो गई. इसकी सूचना परिजनों को संजीव के साथ काम करने वाले साथियों से मिली जिसके बाद उन्होंने संजीव के पार्थिव शरीर को भारत वापस लाए जाने के लिए ऊना प्रशासन के निर्देशानुसार कागजी कार्रवाई की.

उन्होंने स्थानीय सांसद और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के माध्यम से भारत सरकार को भी सूचित किया. लेकिन पहले से दुखी परिवार उस समय अवाक रह गया जब उन्हें बिना उनकी अनुमति और बिना सूचना के ही 18 फरवरी को संजीव को वहां मुस्लिम घोषित कर दफनाए जाने की खबर मिली. इसकी पुष्टि सऊदी अरब से भेजे गए संजीव के डेथ सर्टिफिकेट से हुई जिसमें संजीव के नाम के साथ धर्म मुस्लिम लिखा हुआ है. 

परिवार पार्थिव देह को अंतिम संस्कार हेतु भारत लाए जाने की कोशिश कर रहा है. परिवार संजीव को दफनाए जाने पर बेहद दुखी है. परिवार अब यह सोचकर और भी अधिक दुखी हो गया है कि लगभग दो हफ्ते से दफन किए गए संजीव का पार्थिव शरीर गलने लगा होगा. परिवार अब इस बात से बेहद चिंतित है कि उन्हें संजीव की पार्थिव शरीर मिलेगा या फिर अस्थियां.

ये सवाल उन्हें अंदर ही अंदर पल पल खाए जा रहा है. अपनी गुहार को लेकर दुखी परिवार केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से दो-दो बार निजी रूप से भी मिल चुका है लेकिन संजीव की पार्थिव देह को भारत लाने में हुई देरी के कारण अब इस परिवार परेशानी बढ़ गई है. 

हालांकि, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस मामले सहित ऐसे मामलों में भारत सरकार के गंभीर प्रयासों को सफलता से किए जाने का दावा किया. उन्होंने इस मामले को भी विदेश मंत्रालय के माध्यम से भारत सरकार की तरफ से सऊदी अरब सरकार को संदेश देने और वहां भारतीय दूतावास से लगातार संपर्क किए जाने की बात कही है. अनुराग ठाकुर ने एक हिन्दू को इस तरह मुस्लिम बताकर दफनाए जाने को अन्याय भी बताया.

(इनपुट-संदीप खंडवाल)

और पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें