scorecardresearch
 

हिमाचलः 200 फुट गहरी खाई में गिरी स्कूल बस, 26 बच्चों की मौत

हिमाचल के कांगड़ा जिले में एक निजी स्कूल की बस 200 फुट गहरी खाई में गिर गई, जिसमें 28 लोगों की मौत हो गई. मृतकों में 26 विद्यार्थी, एक शिक्षक और बस ड्राइवर शामिल हैं. बस में कुल 39 लोग सवार थे, जिसमें से 28 लोगों की मौत हो गई और 11 लोग घायल हो गए.

कांगड़ा में 200 फुट गहरी खाई में गिरी स्कूली बस कांगड़ा में 200 फुट गहरी खाई में गिरी स्कूली बस

हिमाचल के कांगड़ा जिले के नूरपुर में एक निजी स्कूल की बस 200 फुट गहरी खाई में गिर गई, जिसमें 28 लोगों की मौत हो गई. मृतकों में 26 स्कूली बच्चे, दो शिक्षक और बस ड्राइवर शामिल हैं. बस में कुल 39 लोग सवार थे, जिसमें से 29 लोगों की मौत हो गई और 10 बच्चे अब भी घायल हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जाहिर किया है. उन्होंने ट्वीट किया कि उनकी संवेदना मृतकों के परिजनों के साथ है-

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस बड़े हादसे पर ट्वीट कर शोक जाहिर किया. उन्होंने हिमाचल प्रदेश में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से मृतकों के परिजनों और घायलों की मदद करने को कहा है-

हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि इस हादसे में कई बच्चों की जान चली गई है. वहीं, हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए बच्चों का टांडा अस्पताल ले जाया गया है. हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि कांगड़ा सड़क हादसे में कई बच्चों की मौत हो गई है, जबकि कई बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. उन्होंने हादसे में मारे जाने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है.

उन्होंने बताया कि इस घटना को लेकर मुख्य सचिव, डीजी और डिप्टी कमिश्नर से बात की है. साथ ही राहत एवं बचाव कार्य के लिए NDRF की टीम को लगाया गया है. इसके अलावा राहत एवं बचाव कार्य में स्थानीय लोगों की भी मदद ली जा रही है. उन्होंने कहा कि इस दुर्घटना की मजिस्ट्रेरियल जांच के आदेश भी दिए गए हैं.

उन्होंने ट्वीट किया कि ''नूरपुर के मलकवाल में स्कूली बस के हादसे का अत्यंत दुखद समाचार प्राप्त हुआ. इस हादसे का हम सभी को गहरा शोक है और मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं. दुःख की इस घड़ी में सरकार सभी प्रभावित परिवारों के साथ है.'' उन्होंने कहा कि वो नूरपुर के स्कूली बस हादसे में घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं. प्रशासन हर संभव मदद के लिए जुटा है और इस हादसे की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

इस हादसे में मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है. कई घायलों की हालत गंभीर बताई जा रही है. फिलहाल हादसे की वजह साफ नहीं हो पाई है. मामले की जांच के बाद ही तस्वीर साफ हो पाएगी. इससे पहले पिछले साल जून में कांगड़ा में ही श्रद्धालुओं से भरी एक प्राइवेट बस इसी तरह गहरी खाई में गिर गई थी , जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई थी.

जून में हुए सड़क हादसे में 30 लोग घायल भी हुई थे. यह हादसा उस समय हुआ था, जब बस चिंतपूर्णी से ज्वालाजी के लिए जा रही थी. इसमें करीब 55 से ज्यादा श्रद्धालु सवार थे. जब बस कांगड़ा के ढलियारा के पास पहुंची, तभी अचानक बेकाबू हो गई और गहरी खाई में जा गिरी थी. इसके अलावा पिछले साल अगस्त में हिमाचल प्रदेश के मंडी में यात्रियों से भरी बस गहरी खाई में गिर गई थी, जिसमें कई लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें