scorecardresearch
 

रोहतक में सीएम खट्टर का विरोध कर रहे किसानों की पुलिस के साथ झड़प, कई घायल

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर शनिवार को रोहतक से सांसद अरविंद शर्मा के पिता की श्रद्धांजलि सभा में पहुंचे थे. शहर के पुरानी आईटीआई ग्राउंड में इस सभा का आयोजन किया गया था. किसानों को मुख्यमंत्री के रोहतक आगमन की जानकारी मिली तो काफी संख्या में इकट्ठा होकर वे बाबा मस्तनाथ यूनिवर्सिटी की तरफ पहुंच गए. 

सीएम खट्टर का किसानों ने किया विरोध (फाइल फोटो) सीएम खट्टर का किसानों ने किया विरोध (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रोहतक में सीएम का किसानों ने किया विरोध
  • विरोध के दौरना पुलिस के साथ हुई झड़प

रोहतक में शनिवार को एक बार फिर मुख्यमंत्री मनोहर लाल को किसानों के गुस्से का सामना करना पड़ा. वे रोहतक में एक सामाजिक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे. बाबा मस्तनाथ यूनिवर्सिटी के हेलीपैड पर उनके हेलीकॉप्टर को उतरना था, लेकिन भारी संख्या में किसान वहां पहुंच गए. सीएम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई. इस दौरान प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच में भी झड़प हुई. जिसमें कई किसानों और एक पुलिसकर्मी को भी चोट आई. तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए सीएम के हेलीकॉप्टर की पुलिस लाइन में लैंडिंग कराई गई.

दरअसल मुख्यमंत्री मनोहर लाल, शनिवार को रोहतक से सांसद अरविंद शर्मा के पिता की श्रद्धांजलि सभा में शिरकत करने पहुंचे थे. शहर की पुरानी आईटीआई ग्राउंड में इस सभा का आयोजन किया गया था. किसानों को मुख्यमंत्री के रोहतक आगमन की जानकारी मिली तो काफी संख्या में इकट्ठा होकर वे बाबा मस्तनाथ यूनिवर्सिटी की तरफ पहुंच गए. 

इस दौरान यूनिवर्सिटी के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किया गया था. दोपहर 1:00 बजे के आसपास मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर को बाबा मस्तनाथ हेलीपैड पर उतरना था. किसानों के विरोध को देखते हुए लैंडिंग स्थल को बदला गया और हेलीपैड पर तैनात मुख्यमंत्री के काफिले को वापस भेजा गया. बाद में बाद शहर के बीचोंबीच पुलिस लाइन में सीएम के हेलीकॉप्टर की लैंडिंग कराई गई. 

इसके बाद मुख्यमंत्री सड़क रास्ते से आईटीआई के श्रद्धांजलि सभा में पहुंचे और वहां कार्यक्रम में शिरकत की. इसके बाद वे अपने काफिले के साथ रेस्ट हाउस होते हुए वापस पुलिस लाइन पहुंच गए. इस दौरान सीएम ने मीडिया से कोई बात नहीं की और हेलीकॉप्टर से दिल्ली के लिए रवाना हो गए. 

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का विरोध करने आए किसानों का कहना है कि उन्होंने पहले से ही चेतावनी दे रखी है कि जब तक तीन काले कानून वापस नहीं होंगे, प्रदेश के अंदर बीजेपी और जेजेपी के किसी भी नेता को किसी भी कार्यक्रम में शिरकत नहीं करने दी जाएगी. हम शांतिपूर्ण ढंग से सीएम के कार्यक्रम का विरोध कर रहे थे, पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई किसानों को चोट आई है. 

मुख्यमंत्री के आज के कार्यक्रम को लेकर पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी. जगह-जगह बैरीकेटिंग लगाई गई, ताकि मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में किसी तरह का कोई अवरोध पैदा नहीं हो सके. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें