scorecardresearch
 

टीचर भर्ती घोटाला: हरियाणा के पूर्व CM ओपी चौटाला रिहा, 10 साल की हुई थी सजा

हरियाणा में मुख्यमंत्री रहते ओपी चौटाला के कार्यकाल में टीचर भर्ती घोटाला हुआ था. इसमें उन्हें 10 साल की सजा मिली थी.

हरियाणा के पूर्व सीएम ओपी चौटाला जेल से रिहा हरियाणा के पूर्व सीएम ओपी चौटाला जेल से रिहा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हरियाणा के पूर्व सीएम ओपी चौटाला जेल से रिहा
  • जेबीटी टीचर भर्ती घोटाले में मिली थी 10 साल की सजा
  • रिहाई से पहले चौटाला को कागजी कार्यवाही पूरी करनी होगी

जेबीटी (जूनियर बेसिक ट्रेनिंग) टीचर भर्ती घोटाले (JBT Teachers Scam) मामले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला (Om Prakash Chautala) को रिहा कर दिया गया है. ओपी चौटाला की सजा पूरी होने के चलते उनको रिहा किया गया है. जानकारी के मुताबिक, अब बस थोड़ी सी कागजी कार्यवाही बाकी है.

फिलहाल कोरोना महामारी के चलते 83 साल के चौटाला परोल पर हैं. अब जैसे ही वह तिहाड़ जेल प्रशासन को सरेंडर करेंगे, तब ही आगे की कागजी कार्यवाही करके उनको रिहा कर दिया जाएगा.

बता दें कि इससे पहले इंडियन नेशनल लोक दल (INLD) के प्रमुख ओपी चौटाला ने हाई कोर्ट में याचिका भी दायर की थी. याचिका में ओपी चौटाला ने कहा था कि उनकी सजा पूरी होने के बावजूद उन्हें रिहा नहीं किया जा रहा है. लेकिन अब जेल प्रशासन ने मान लिया है कि चौटाला की सजा पूरी हो चुकी है.

स्पेशल छूट को लेकर अटकी थी चौटाला की रिहाई

दरअसल, ये कंफ्यूजन स्पेशल छूट को लेकर था. चौटाला के वकील अमित सहनी की तरफ से कहा गया था कि दिल्ली सरकार की तरफ से ऐसे कैदियों को 6 महीने की विशेष छूट मिलती है जिनको 10 साल की सजा मिली हो और उन्होंने उसमें से 9 साल और 6 महीने की कस्टडी पूरी कर ली हो. 

सुनें - दिनभर की बड़ी खबरें

हरियाणा में मुख्यमंत्री रहते उनके कार्यकाल में टीचर भर्ती घोटाला हुआ था. इसमें चौटाला को 10 साल की सजा मिली थी. चौटाला को यह सजा सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने सुनाई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें