scorecardresearch
 

फरीदाबाद: पहले बलात्कार फिर अश्लील तस्वीरों के जरिए ब्लैकमेल, आरोपी गिरफ्तार

आरोपी ने महिला से संबंध बनाने के लिए उससे मिलना जुलना शुरू कर दिया और उसे अपने विश्वास में लेकर अपने साथ कमरे में ले गया, जहां पर उसने पीड़िता के साथ बलात्कार किया और उसकी अश्लील तस्वीरें खींच लीं.

पहले बलात्कार फिर अश्लील तस्वीरों के जरिए ब्लैकमेल पहले बलात्कार फिर अश्लील तस्वीरों के जरिए ब्लैकमेल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पहले रेप फिर ब्लैकमेल किया
  • ब्लैकमेल करने के लिए अश्लील तस्वीरें खीचीं
  • एक साल बाद आरोपी गिरफ्तार

फरीदाबाद में महिला थाना सेंट्रल की टीम को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. उन्होंने 2020 से फरार चल रहे बलात्कार के आरोपी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम संजय है जो बिहार के मधुबनी का रहने वाला है और वर्ष 2020 तक फरीदाबाद के सेक्टर 31 एरिया में रह रहा था.

पहले रेप फिर ब्लैकमेल

आरोपी की कपड़े की मशीन बनाने की फैक्ट्री है, जिसमें पीड़िता कुछ समय पहले काम करती थी और वहीं पर महिला की जान पहचान आरोपी के साथ हुई थी. पुलिस को दी अपनी शिकायत में पीड़िता ने बताया कि वह कपड़े बनाने की फैक्ट्री में काम करती है. पीड़िता वर्ष 2018 से आरोपी को जानती है. आरोपी ने महिला से संबंध बनाने के लिए उससे मिलना जुलना शुरू कर दिया और उसे अपने विश्वास में लेकर अपने साथ कमरे में ले गया जहां पर उसने पीड़िता के साथ बलात्कार किया और उसकी अश्लील तस्वीरें खींच लीं.

संबंध बनाने के लिए दबाव बनाया

इसके बाद आरोपी महिला को ब्लैकमेल करने लगा और महिला से कहा कि यदि वह उसके पास नहीं आई तो यह तस्वीरें वो पीड़िता के पति को भेज देगा. महिला आरोपी के सामने गिड़गिड़ाई कि वह यह तस्वीरें उसके पति को न भेजे.

इसके बाद महिला ने आरोपी की फैक्ट्री से काम छोड़कर फरीदाबाद में कपड़े की कंपनी में काम करना शुरू कर दिया. आरोपी ने महिला से संपर्क करके उसे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और संबंध बनाने के लिए दबाव बनाने लगा.

क्लिक करें- दिल्ली: इमाम पर मस्जिद में बच्ची से रेप का आरोप, गाजियाबाद में गिरफ्तार 

जब महिला ने उसकी बात नहीं मानी तो आरोपी ने महिला की अश्लील तस्वीरें उसके पति के फोन पर भेज दीं जिसके बाद महिला ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया. पीड़िता की शिकायत के आधार पर महिला थाना सेंट्रल में आरोपी के खिलाफ बलात्कार व आईटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए आरोपी की गिरफ्तारी के निर्देश दिए जिसके तहत महिला थाना सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर गीता की अगुवाई में टीम ने आरोपी पर दबिश देनी शुरू कर दी.

एक साल बाद पुलिस को मिली कामयाबी

वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया और जगह बदल-बदलकर रहने लगा. पुलिस टीम ने आरोपी के दोस्तों रिश्तेदारों के पास उसकी तलाश शुरू कर दी और अंत में आरोपी को पुलिस की कड़ी मशक्कत, तकनीकी व गुप्त सूत्रों की सहायता से फरीदाबाद के धीरज नगर से गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी को गिरफ्तार करके अदालत में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें