scorecardresearch
 

हरियाणा: गठबंधन में दरार की अटकलों के बीच दिल्ली में शाह से मिले CM और डिप्टी सीएम

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने राज्य की गठबंधन सरकार में दरार की अटकलों को खारिज किया है. किसान आंदोलन के बीच भारतीय जनता पार्टी और जेजेपी में तनाव की रिपोर्ट के बाद सीएम और डिप्टी सीएम ने गृह मंत्री अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की.

दुष्यंत चौटाला के साथ सीएम मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो) दुष्यंत चौटाला के साथ सीएम मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसान आंदोलन के कारण संकट में सरकार
  • दुष्यंत ने पार्टी विधायकों संग की मीटिंग
  • अमित शाह से मिले CM मनोहर लाल खट्टर

केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध के बीच हरियाणा की गठबंधन सरकार में दरार की अटकलें हैं. यह अटकलें इसलिए लगाई जा रही हैं क्योंकि बीजेपी की अगुवाई वाली राज्य सरकार में शामिल जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के 10 विधायक प्रदर्शनकारी किसानों के समर्थन में खड़े हो गए हैं. हरियाणा में किसानों के विरोध की आग को इससे समझा जा सकता है कि करनाल में सीएम मनोहर लाल खट्टर के कार्यक्रम में हंगामा हो गया. 

कयास लगाए जाने लगे कि जेजेपी के नेता और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला शायद कोई फैसला ले सकते हैं. गठबंधन सरकार में शामिल जेजेपी और बीजेपी में अंदरखाने तनाव की बात कही जाने लगी. उन्होंने पार्टी नेताओं के साथ मंगलवार को बैठक की. दुष्यंत चौटाल जिस समय पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर रहे थे, उसी समय कृषि कानूनों पर रोक लगाने वाला सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया. हालांकि शाम में सीएम मनोहर लाल खट्टर और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की.  

मुलाकात के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गठबंधन सरकार में दरार की अटकलों को खारिज किया. सीएम ने कहा कि हरियाणा में राजनीतिक माहौल ठीक है, जो राजनीतिक अटकलें लगाई जा रही हैं, उनमें कोई दम नहीं है. हमारी सरकार सुंदर तरीके से चल रही है. सरकार पूरा कार्यकाल करेगी. .

सीएम ने कहा कि विपक्ष और मीडिया की अटकलें निराधार हैं. हमारी सरकार मजबूत है और अपना कार्यकाल पूरा करेगी. उन्होंने कहा कि हमें समाधान की उम्मीद है. अगर हमें मौका मिला तो हमें 10 साल पूरे हो जाएंगे. हालांकि दुष्यंत चौटाला सिर्फ इतना ही बोले कि राज्य में गठबंधन सरकार मजबूत है.

संकट के बादल

असल में, किसान आंदोलन के कारण हरियाणा सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. सरकार को समर्थन दे रही जेजेपी ने अपने विधायकों की मीटिंग बुलाई थी. पार्टी अध्यक्ष और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के फार्म पर मंगलवार दोपहर 2 बजे से मीटिंग हुई. हालांकि शाम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. 

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के आवास पर हुई जेजेपी की बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष निशान सिंह ,डॉ केसी बांगड़ ,राज्य मंत्री अनूप धानक, विधायक जोगीराम सिहाग ,देवेंद्र बबली समेत कई विधायक मौजूद रहे. किसान आंदोलन और मौजूदा राजनीतिक माहौल पर चर्चा हुई. 

करनाल बवाल के बाद सरकार में हलचल

बता दें कि पिछले दिनों करनाल में बीजेपी की ओर से आयोजित किसान महापंचायत कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भारी विरोध का सामना करना पड़ा था. हेलिपैड खोद दिए गए थे और मंच पर तोड़फोड़ की गई थी. इस वजह से सीएम खट्टर को अपना करनाल दौरा रद्द करना पड़ा था.

किसानों के बढ़ते विरोध को देखते हुए बीजेपी और जेजेपी गठबंधन परेशान है. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदेश की ताजा हालात के बारे में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात करेंगे. इससे पहले दुष्यंत ने अपने फार्म हाउस पर जेजेपी विधायकों की बैठक बुलाई है.

देखें- आजतक LIVE TV

सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा था कि किसान आंदोलन के कारण सत्तारूढ़ गठबंधन के कई विधायक अपना इस्तीफा देना चाहते हैं. इस बयान के बाद बीजेपी-जेजेपी गठबंधन में हलचल तेज हो गई है. 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा में बीजेपी के 40 और जेजेपी के 10 विधायक है. इसके अलावा 7 निर्दलीय विधायक सरकार को समर्थन दे रहे हैं.

किसान आंदोलन ने गठबंधन के मंत्रियों और विधायकों के लिए गांवों में सार्वजनिक बैठकें करना मुश्किल कर दिया है. किसान  काले झंडे दिखा रहे हैं, मंत्रियों-विधायकों की गाड़ी का पीछा कर रहे हैं, हेलीपैड को नुकसान पहुंचा जा रहे हैं. रविवार को करनाल में हुई घटना ने हरियाणा सरकार को चिंतित कर दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें