scorecardresearch
 

जाट आंदोलन और हिंसा के पीछे बड़ी 'राजनीतिक साजिश' का खुलासा

हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि उन्हें शक है कि जाट आंदोलन के पीछे राजनीतिक साजिश है, और राजनीतिक फायदे के लिए ऐसा कराया जा रहा है.

हरियाणा में जाट आरक्षण को लेकर भड़की हिंसा के बीच एक ऐसी ऑडियो क्लिप सामने आई है जो राज्य की राजनीति में उबाल ला सकती है. पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार और एक खाप नेता के बीच हुई बातचीत के इस ऑडियो क्लिप में हिंसा को उकसाने की बात सामने आ रही है.

ऑडियो क्लिप में हुड्डा के पूर्व राजनीतिक सलाहकार प्रोफेसर विरेंदर ने खाप नेता कप्तान मान से फोन पर बात करके हुए जाट आंदोलन के दौरान रोहतक में उनकी ओर से फैलाई गई हिंसा की तारीफ की और साथ ही यह भी कहा कि वे INLD की स्टूडेंट विंग को सिरसा में माहौल गर्म करने और हिंसा को उकसाने के लिए कहें.

प्रोफेसर विरेंदर ने दी सफाई
इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, जब प्रोफेसर विरेंदर से इस संबंध में सवाल किया गया तो उन्होंने साफ कहा कि ऑडियो क्लिप से छेड़छाड़ की गई है. उन्होंने ऐसी कोई बात नहीं कही है. उन्होंने कहा, 'यह बातचीत काफी पुरानी है. जब यह आंदोलन शुरू नहीं हुआ था उसके काफी पहले की है.'

सरकार कराएगी ऑडियो क्लिप की जांच
हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्हें शक है कि जाट आंदोलन के पीछे राजनीतिक साजिश है, और राजनीतिक फायदे के लिए ऐसा कराया जा रहा है. उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार मामले की जांच का आदेश देगी और जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई जरूर होगी.'

'विपक्षी नेताओं के फोन टेप करा रही है सरकार'
INLD नेता अभय चौटाला ने कहा कि ऑडियो क्लिप से साफ होता है शांतिपूर्ण ढंग से चल रहे जाट आंदोलन को भड़काया गया और फिर हुड्डा दिल्ली जाकर भूख हड़ताल पर बैठ गए. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि ऑडियो क्लिप से जाहिर होता है कि सरकार गैरकानूनी रूप से विपक्षी नेताओं के फोन टेप करवा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें