scorecardresearch
 

यमुनानगर में उधमपुर हमले के शहीद रॉकी का अंतिम सस्कार, लगे 'पाकिस्तान मुर्दाबाद' के नारे

उधमपुर हमले में आतंकियों के साथ लड़ते हुए शहीद हुए बीएसएफ के जांबाज कॉन्स्टबेल रॉकी का शुक्रवार को उनके गृहनगर यमुनानगर में अंतिम संस्कार कर दिया गया. सैनिक सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया और वहां मौजूद लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

बीएसएफ के आईजी राकेश कुमार ने जम्मू में शहीद रॉकी और शुभेंदु राय को श्रद्धांजलि दी थी बीएसएफ के आईजी राकेश कुमार ने जम्मू में शहीद रॉकी और शुभेंदु राय को श्रद्धांजलि दी थी

उधमपुर हमले में आतंकियों के साथ लड़ते हुए शहीद हुए बीएसएफ के जांबाज कॉन्स्टबेल रॉकी का शुक्रवार को उनके गृहनगर यमुनानगर में अंतिम संस्कार कर दिया गया. सैनिक सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया और वहां मौजूद लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

रॉकी का भाई मंत्र‍ियों से नाराज
रॉकी के घर अभी किसी मंत्री के न पहुंचने से उनके भाई रोहित कुमार आहत हैं. उन्होंने कहा, 'मैं उन मंत्र‍ियों से नाराज हूं, जो वोट मांगने तो घर-घर आते हैं, लेकिन मेरे भाई के शहीद होने पर अब तक नहीं आए. कहां हैं वो? सभी को पता है कि उसका शव दो दिन से रखा है, किसी को तो आना चाहिए था. वो बहुत जांबाज सैनिक था.'

 

हरियाणा सरकार आश्र‍ित को देगी नौकरी
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शहीद रॉकी के आश्रित को सरकारी नौकरी की घोषणा की है. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि 20 लाख रुपये की अनुग्रह राशि भी शहीद के परिवार को दी जाएगी. खट्टर ने रॉकी द्वारा प्रदर्शित अदम्य साहस की प्रशंसा करते हुए कहा कि राज्य के वीर सैनिक देश के लिए हमेशा ही अपने जीवन का बलिदान करने को तैयार रहते हैं. उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार अपने वीर सैनिकों के अनुकरणीय साहस को नमन करती है.

शहीद होने से पहले आतंकी को ढेर किया था
रॉकी बुधवार को उधमपुर में आतंकियों के साथ लड़ते हुए शहीद हुआ था. बीएसएफ ने दावा किया था कि इस मुठभेड़ में मारे गए एकमात्र आतं‍की को रॉकी ने जख्मी होने के बावजूद मार गिराया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें