scorecardresearch
 

कृषि कानून: दिल्ली कूच की तैयारी में पंजाब के किसान, हरियाणा ने सील किया बॉर्डर

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि किसानों के दिल्ली कूच के आंदोलन को देखते हुए दो दिन तक पंजाब बॉर्डर सील किए जाएंगे. इस बीच केंद्र ने किसानों को 3 दिसंबर को बैठक के लिए बुलाया है.

पंजाब में किसानों का प्रदर्शन जारी (फाइल फोटो-PTI) पंजाब में किसानों का प्रदर्शन जारी (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • CM मनोहर लाल खट्टर ने किया ऐलान
  • 26-27 नवंबर को हरियाणा-पंजाब बॉर्डर सील

कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर पंजाब के किसान अब दिल्ली कूच करने वाले हैं. इसको लेकर हरियाणा सरकार ने खास तैयारी की है. हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि किसानों के दिल्ली कूच के आंदोलन को देखते हुए दो दिन तक पंजाब बॉर्डर सील किए जाएंगे. इस बीच केंद्र ने किसानों को 3 दिसंबर को बैठक के लिए बुलाया है.

आपको बता दें कि पंजाब के किसानों ने 26 और 27 नवंबर को दिल्ली कूच करने का प्लान बनाया है. इसे देखते हुए हरियाणा सरकार ने पंजाब बॉर्डर को 26 और 27 नवंबर को सील करने का फैसला किया है. सरकार ने अपील की है कि दो दिन तक दिल्ली बॉर्डर की तरफ जाने से बचें.

देश की 472 किसान यूनियनों के प्रतिनिधियों ने 3 कृषि कानूनों और बिजली एक्ट के खिलाफ 26-27 नवंबर को दिल्ली चलो का आवाहन किया है. इसके तहत दिल्ली को जोड़ने वाले पांच हाइवे से 26-27 नवंबर को किसान देश की राजधानी पहुंचेंगे. दिल्ली कूच में पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश के किसान हिस्सा लेंगे.

देखें: आजतक LIVE TV

किसानों का कहना है कि अगर उन्हें दिल्ली में घुसने नहीं दिया जाता है तो दिल्ली जाने वाली सड़कों को जाम कर दिया जाएगा. मांगें पूरी होने तक किसान संसद के बाहर प्रदर्शन करेंगे. किसानों ने कहा कि हमें प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी जाती है तो किसान संसद पहुंचेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें