scorecardresearch
 

गुजरातः मोदी-शाह के गढ़ में ममता की एंट्री, पहली बार राज्य में बनाएंगी संगठन

अब तक गुजरात की राजनीति के लिए कहा जाता था कि यहां सिर्फ दो ही पक्ष चलते हैं बीजेपी और कांग्रेस. लेकिन इस बार चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी ने गुजरात की राजनीति में एंट्री कर दी है और अब टीएमसी भी एंट्री करने की तैयारी में है.

टीएमसी शहीद दिवस पर ममता की गुजरात राजनीति में एंट्री टीएमसी शहीद दिवस पर ममता की गुजरात राजनीति में एंट्री
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने आज की एंट्री
  • पार्टी जल्द ही गुजरात में संगठन भी बनाएगीः कन्वीनर
  • टीएमसी से पहले इस साल AAP भी कर चुकी है एंट्री

गुजरात में आम आदमी पार्टी (AAP) की एंट्री के बाद अब ममता बनर्जी अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के साथ एंट्री कर रही हैं. तृणमूल शहीद दिवस के मौके पर ममता बनर्जी खुद की पार्टी को बंगाल की राजनीति से बाहर राष्ट्रीय राजनीति में लेकर आई हैं.

गुजरात की राजनीति में ममता बनर्जी की एंट्री करने से अब यहां पर मुकाबला रोचक होने जा रहा है. अहमदाबाद में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बैनर के बाद आज ममता की वर्चुअल रैली का आयोजन किया गया.

हाल ही में ममता ने गुजरात में अपने कन्वीनर बनाए हैं. टीएमसी के कन्वीनर का कहना है कि 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी अपना फैसला लेगी. साथ ही संगठन को भी घोषित किया जाएगा.

इसे भी क्लिक करें --- बंगाल के बाद अब गुजरात में 'खेला होबे', पहली बार अहमदाबाद में लगे ममता के बैनर

इससे पहले अहमदाबाद के गीता मंदिर बस स्टैंड पर लगाए गए पोस्टर को 24 घंटे के भीतर ही हटा दिया गया है, जिसके बारे में गुजरात के कन्वीनर जितेन्द्र खडायता का कहना है कि 2-3 महीने पहले बंगाल में ममता दीदी ने बड़ी जीत हासिल की है, वैसे में आप ही समझ सकते है कि पोस्टर को क्यों हटाया गया है. हालांकि जनता सब जानती है और वही इसका जवाब चुनाव में देगी.

अब तक गुजरात की राजनीति के लिए कहा जाता था कि यहां सिर्फ दो ही पक्ष चलते हैं बीजेपी और कांग्रेस. लेकिन इस बार चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी ने गुजरात की राजनीति में एंट्री कर दी है और अब टीएमसी भी एंट्री करने की तैयारी में है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें