scorecardresearch
 

गुजरात चुनाव के दौरान मुंबई जैसे हमले की फिराक में आतंकी! अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

पाकिस्तान के इस मंसूबे को भांपते हुए भारतीय सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गई हैं. पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी ने दो दिन पहले अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारतीय मछुआरों की दो नौकाओं को पकड़ा है.

प्रतीकात्मक प्रतीकात्मक

आतंकवाद को लेकर भारत और अमेरिका की ओर से आखिरी चेतावनी मिलने के बावजूद पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. अब गुजरात चुनाव के दौरान पाकिस्तानी आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है. पाकिस्तानी आतंकी 26/11 मुंबई हमले की तर्ज पर गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में है.

पाकिस्तान के इस मंसूबे को भांपते हुए भारतीय सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गई हैं. पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी ने दो दिन पहले अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारतीय मछुआरों की दो नौकाओं को पकड़ा है. दिलचस्प बात यह है कि पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी ने भारतीय मछुआरों को तो छोड़ दिया है, लेकिन उनके बायोमैट्रिक कार्ड और जरूरी दस्तावेजों को अपने पास रख लिया है.

भारतीय खुफिया एजेंसी को आशंका है कि पाकिस्तान मछुआरों के इन दस्तावेजों और बायोमैट्रिक कार्ड का इस्तेमाल भारत में नौका के जरिए घुसपैठ करने और गुजरात चुनाव के दरम्यान आतंकी हमला करने के लिए कर सकता है. हालांकि पाकिस्तान के नापाक इरादों को भांपते हुए भारतीय सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की हरकत पर लगातार नजर रखी जा रही है, ताकि उसके नापाक मंसूबों को विफल किया जा सके. पाकिस्तान समुद्री सुरक्षा बल ने जिन भारतीय मछुआरों को पकड़ा था, वो गुजरात से ताल्लुक रखते हैं. इससे पहले मुंबई आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए पाकिस्तानी आतंकियों ने समुद्र के रास्ते घुसपैठ की थी.

आतंकवाद को लेकर अमेरिका दे चुका है आखिरी चेतावनी

इसी सप्ताह अमेरिका ने आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को आखिरी चेतावनी भी दे चुका है, लेकिन फिर भी PAK अपनी करतूत से बाज नहीं आ रहा है. इसके लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को विशेष रूप से पाकिस्तान भेजा था. इस दौरान टिलरसन ने पाकिस्तान से सख्त लहजे में कहा था कि वह बहाना बनाना बंद करे और आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करे. वरना अमेरिका खुद ही घुसकर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करेगा. अमेरिकी विदेश मंत्री ने यह भी बताया कि उन्होंने पाकिस्तान को आतंकियों की लिस्ट भी दी है, ताकि वह इनके खिलाफ कार्रवाई कर सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें