scorecardresearch
 

ओबीसी समुदाय की धमकी- पटेलों को आरक्षण दिया, तो गुजरात सरकार को उखाड़ फेंकेंगे

अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) में शामिल समुदायों के हजारों लोगों ने पटेल समुदाय की ओर से ओबीसी आरक्षण की अपनी मांग मनवाने के लिए किए जा रहे आंदोलन के विरोध में एक रैली की.

X
गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल (फाइल फोटो) गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल (फाइल फोटो)

अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) में शामिल समुदायों के हजारों लोगों ने पटेल समुदाय की ओर से ओबीसी आरक्षण की अपनी मांग मनवाने के लिए किए जा रहे आंदोलन के विरोध में एक रैली की. इन लोगों ने धमकी दी कि अगर पटेलों की मांगों के सामने गुजरात सरकार ने घुटने टेके, तो सरकार को उखाड़ फेंका जाएगा.

‘गुजरात क्षत्रिय-ठाकुर सेना’ के अध्यक्ष अल्पेश ठाकुर ने पटेल नेताओं पर निशाना साधते हुए यह बात कही. गौरतलब है कि इससे पहले पटेल नेताओं ने राज्य सरकार को धमकी दी थी कि यदि उनकी मांगें नहीं मांगी गईं, तो 2017 के विधानसभा चुनाव में सरकार को इसका नतीजा भुगतना होगा.

ठाकुर ने कहा, ‘साल 2017 में सरकार को उखाड़ फेंकने की धमकी देकर आरक्षण पाने के लिए पटेल सरकार पर जिस तरह दबाव बना रहे हैं, हम उसकी कड़ी निंदा करते हैं. मैं इस सरकार को चेतावनी देना चाहता हूं कि हमारे धैर्य को हल्के में न लें.’

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, ‘पटेल महज 12 फीसदी हैं जबकि ओबीसी, एससी और एसटी राज्य की जनसंख्या के 78 फीसदी हैं. यदि पटेलों को एक फीसदी भी आरक्षण दिया जाता है, तो यह सरकार इस साल भी सत्ता में नहीं टिक सकेगी, 2017 की बात तो भूल जाइए.’

गौरतलब है कि इससे पहले गुजरात में अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) आरक्षण की मांग करते हुए पटेल समुदाय के युवा नेता हार्दिक पटेल ने कहा था कि राज्य के ‘पटेलों' का सीना 56 इंच का है और उन्हें आरक्षण की अपनी मांग सरकार से मनवाना बखूबी आता है.

इनपुट: भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें