scorecardresearch
 

बप्पा के भक्तों को चालान का डर, पंडाल में नजर आए हेलमेट ही हेलमेट

बप्पा की आरती करने पहुंची कुसुम कोठारी नाम की महिला ने कहा कि हेलमेट पहनकर भगवान गणेश की आरती के जरिए वो ये संदेश देना चाहती हैं कि हर किसी को हेलमेट पहनना चाहिए. उन्होंने कहा कि सरकार ने जो बदलाव किए हैं वो सुरक्षा के लिए ही हैं.

X
बप्पा के दरबार में हेलमेट पहनकर पहुंचे भक्त (फोटो-गोपी) बप्पा के दरबार में हेलमेट पहनकर पहुंचे भक्त (फोटो-गोपी)

देश में ट्रैफिक के नियम बदल चुके हैं, अब नियमों का उल्लंघन करने पर नए नियम के तहत तगड़ा जुर्माना वसूला जा रहा है. गुजरात के सूरत शहर से ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिन्हें ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरुकता कहा जाए या फिर नए ट्रैफिक नियमों का डर कहा जाए. दरअसल, भगवान गणेश के पंडाल में लोग हेलमेट पहनकर आरती करते नजर आए.  

सूरत के वेसु इलाके में स्थित नंदनी-1 में अन्य गणेश पंडालों की तरह ही भगवान गणेश की विदाई के लिए आरती का आयोजन किया गया था लेकिन आरती में शामिल होने वाले ज़्यादातर भक्त हेलमेट पहनकर पहुंचे. बप्पा की आरती करने पहुंची कुसुम कोठारी नाम की महिला ने कहा कि हेलमेट पहनकर भगवान गणेश की आरती के जरिए वो ये संदेश देना चाहती हैं कि हर किसी को हेलमेट पहनना चाहिए. उन्होंने कहा कि सरकार ने जो बदलाव किए हैं वो सुरक्षा के लिए ही हैं.

पढ़ें- एक देश चार चालान रेट, कई राज्यों में ट्रैफिक पुलिस भी है कन्फ्यूज

वहीं गणेश पंडाल में हेलमेट पहनकर पहुंची रेखा गर्ग नाम की महिला का कहना है कि लोग हेलमेट का प्रयोग करें, समाज को जागरूक करना हमारा मकसद है. इसके लिए बप्पा से प्रार्थना करते हैं. हालांकि ट्रैफिक नियमों के पालन को लेकर सामाजिक संदेश देना और उस पर खुद भी अमल करना दोनों बातों में काफी फर्क है.

halmet-mos_091219022135.jpg

ऐसे में कहा जा रहा है कि लोगों के मन में कहीं ना कहीं चालान का डर है, जो बप्पा को विदाई देने के लिए भी यातायात के नियम का पालन करते हुए हेलमेट पहनकर भगवान को विदाई देने पहुंचे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें